Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राहुल द्रविड़ ने कहा आज का क्रिकेट मेरे लिए नहीं, खुद की बल्लेबाजी पर गर्व

Rahul Dravid : राहुल द्रविड़ ने संजय मांजरेकर से बात करते हुए कहा कि वह खुद को डिफेंस क्रिकेट खेलने की भूमिका में देखते थे, और उनका काम था कि गेंदबाजों को थकाए, गेंद से चमक खत्म करना ताकि बल्लेबाजों को खेलने में आसानी हो, और मुझे अपने काम पर गर्व था।

राहुल द्रविड़ ने कहा- आज का क्रिकेट मेरे लिए नहीं, खुद की बल्लेबाजी पर गर्व
X
Rahul Dravid

राहुल द्रविड़ इस बात को मानते हैं कि वह बहुत धीरे बल्लेबाजी करते थे, और इसलिए ही उनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ज्यादा समय टिक नहीं पाते। हालांकि राहुल द्रविड़ ने कहा डिफेंसिव क्रिकेट हमेशा रहेगा, लेकिन आज इसका चलन कम हुआ है।

विराट कोहली और रोहित शर्मा को लेकर राहुल द्रविड़ ने कहा वनडे क्रिकेट में दोनों नए रिकार्ड्स बना रहे हैं, लेकिन चेतेश्वर पुजारा जैसे बैट्समैन की टेस्ट क्रिकेट में हमेशा मांग रहेगी। राहुल द्रविड़ ने कहा कि वह खुद को डिफेंसिव क्रिकेटर कहलाने में नहीं हिचकते, क्योंकि शुरुआत से ही मै टेस्ट क्रिकेटर में अपना करियर बनाना चाहता था।

मुझे अपनी बल्लेबाजी पर गर्व - राहुल द्रविड़

राहुल द्रविड़ ने संजय मांजरेकर से बात करते हुए कहा कि वह खुद को डिफेंस क्रिकेट खेलने की भूमिका में देखते थे, और उनका काम था कि गेंदबाजों को थकाए, गेंद से चमक खत्म करना ताकि बल्लेबाजों को खेलने में आसानी हो, और मुझे अपने काम पर गर्व था। साथ ही उन्होंने कहा कि सहवाग जैसे बैट्समैन की तरह भी मै खेलना चाहता था, लेकिन मेरा कौशल विपरीत था।

Also Read - इंग्लैंड पहुंची वेस्ट इंडीज क्रिकेट टीम 14 दिन रहेगी क्वारंटीन, देखिए क्या होगा आगे का प्लान

आज की क्रिकेट में नहीं टिक पाता - राहुल द्रविड़

राहुल द्रविड़ ने कहा कि मै जिस तरह की बैटिंग किया करता था, शायद आज उस तरह खेलता तो मेरा करियर लंबा नहीं जाता। राहुल द्रविड़ ने अपने शुरूआती दिनों को याद करते हुए कहा कि सच कहूं तो मै बतौर टेस्ट क्रिकेटर ही खेलना चाहता था। राहुल द्रविड़ ने इस बातचीत में टेस्ट क्रिकेट में चेतेश्वर पुजारा की बल्लेबाजी को खूब सराहा।

Next Story