Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राहुल द्रविड़ ने बताया कपिल देव ने उन्हें दी थी कोच बनने की सलाह

Rahul Dravid : राहुल द्रविड़ ने कहा कि 1998 में जब मै वनडे टीम से ड्राप हुआ था, तब मेरे अंदर असुरक्षा को लेकर भावना पैदा हुई थी। राहुल द्रविड़ ने कहा कि मै टेस्ट क्रिकेटर बनना भी चाहता था और टेस्ट क्रिकेटर को ट्रेनिंग भी देता था।

राहुल द्रविड़ ने बताया कपिल देव ने उन्हें दी थी कोच बनने की सलाह
X
राहुल द्रविड़

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ दुनिया भर में द वाल नाम से जाने जाते हैं, उनका यह नाम उनकी बल्लेबाजी शैली की वजह से पड़ा था। राहुल द्रविड़ ने क्रिकेट करियर के बाद कोचिंग में अपना करियर आगे बढ़ाया, और यहां भी उन्होंने सफलताओं को हासिल किया। राहुल द्रविड़ ने बताया कि अंडर 19 और भारतीय क्रिकेट A टीम के कोच बनने को लेकर पूर्व कप्तान कपिल देव ने उन्हें सलाह दी थी।

राहुल द्रविड़ ने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम के बाद भविष्य को लेकर मेरे पास कई सारे ऑप्शन थे, लेकिन मै किसी एक को लेकर आश्वस्त नहीं था। राहुल द्रविड़ ने कपिल देव का नाम लेते हुए कहा इन्होने मुझे कोचिंग करियर में जाने को लेकर सलाह दी थी। राहुल द्रविड़ ने बताया कि उन्होंने मुझे कहा कि जाओ और कुछ अलग करो, और देखो तुम्हे क्या पसंद है।

राहुल द्रविड़ ने कहा कि कपिल देव की सलाह महत्वपूर्ण थी, और कोचिंग करियर को लेकर मै भाग्यशाली था कि अपने करियर के अंतिम दिनों में मै आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान कम कोच की भूमिका में था।

Also Read - इस स्टेडियम में शुरू हो सकती है भारतीय क्रिकेट टीम की ट्रेनिंग, BCCI मीटिंग में हुई चर्चा

1998 में असुरक्षा की हुई थी भावना - राहुल द्रविड़

राहुल द्रविड़ ने कहा कि 1998 में जब मै वनडे टीम से ड्राप हुआ था, तब मेरे अंदर असुरक्षा को लेकर भावना पैदा हुई थी। राहुल द्रविड़ ने कहा कि मै टेस्ट क्रिकेटर बनना भी चाहता था और टेस्ट क्रिकेटर को ट्रेनिंग भी देता था। राहुल द्रविड़ ने कहा मै चिंता करता था, चाहे मेरे अंदर वनडे क्रिकेट के लिए क्षमता हो या नहीं। वैसे आपको बता दें कि राहुल द्रविड़ अकेले ऐसे क्रिकेटर हैं, जिनके नाम वनडे क्रिकेट में 300 से अधिक की पार्टनरशिप हो।

Next Story