Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

MS Dhoni Records: एमएस धोनी के नाम है ये 5 अनोखे वर्ल्ड रिकॉर्ड, अबतक कोई नहीं तोड़ पाया

MS Dhoni Records अब तक के अपने 16 साल के क्रिकेटिंग करियर के दौरान एमएस धोनी (MS Dhoni) ने कई रिकॉर्ड (MS Dhoni Records) अपने नाम किए। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको एमएस धोनी द्वारा बनाए गए टॉप 5 रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं।

MS Dhoni Records: एमएस धोनी के नाम है ये 5 अनोखे वर्ल्ड रिकॉर्ड, अबतक कोई नहीं तोड़ पाया

MS Dhoni Records (एमएस धोनी रिकॉर्ड) पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) की गिनती दुनिया के सबसे बेहतरीन कप्तानों और फिनिशरों में होती है। धोनी ने अपने कप्तानी में टीम इंडिया को कई यादगार पल दिए हैं। धोनी की ही कप्तानी में भारत ने 2011 में दूसरी बार वर्ल्ड कप का ख़िताब जीता। अब तक के अपने 16 साल के क्रिकेटिंग करियर के दौरान धोनी ने कई रिकॉर्ड (MS Dhoni Records) अपने नाम किए। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको एमएस धोनी द्वारा बनाए गए टॉप 5 रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं।

एमएस धोनी द्वारा बनाए गए टॉप 5 रिकॉर्ड

1. तीन आईसीसी ट्रॉफी जीतने का रिकॉर्ड

एमएस धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं। धोनी ने टीम इंडिया के लिए तीन आईसीसी ट्रॉफी जीतकर करके क्रिकेट में भारत का गौरव बढ़ाया है। धोनी दुनिया के एकमात्र कप्तान हैं, जिन्होंने अपनी कप्तानी में आईसीसी की तीन अलग-अलग ट्रॉफी जीती है। धोनी की कप्तानी में भारत ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीता, फिर इसके बाद 2011 में उनकी कप्तानी में भारत ने दूसरी बार वर्ल्ड कप का खिताब जीता। इतना ही नहीं धोनी की कप्तानी में भारत ने 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का ख़िताब भी जीता।


2. एमएस धोनी छक्के से विश्व कप खिताब जीताने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं

एमएस धोनी मैच फिनिश करने के लिए जाना जाता है, इसलिए उन्हें दुनिया का टॉप मैच फिनिशर कहा जाता है। धोनी ने वनडे क्रिकेट में 9 बार मैच को छक्के से फिनिश किया है। इसके अलावा धोनी ने छक्के के साथ विश्व कप जीतने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया है, जब उन्होंने 2011 में श्रीलंकाई गेंदबाज नुवान कुलशेखरा की गेंद पर छक्का जड़कर भारत को दूसरी बार वर्ल्ड कप जिताया था।


3. विकेटकीपर-बल्लेबाज के रूप में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के अपने शुरुआती दिनों में एमएस धोनी ने 31 अक्टूबर 2005 को जयपुर में एक यादगार पारी खेली थी। श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे के दौरान धोनी ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 183 रनों की यादगार पारी खेली थी। यह अब तक विकेटकीपर-बल्लेबाज के रूप में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया दिग्गज विकेटकीपर-बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 2004 में 172 रन बनाए थे।


4. पिछले 14 दशकों में ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया का व्हाइटवॉश

एमएस धोनी ने अपनी कप्तानी में 2016 में ऑस्ट्रेलिया की धरती पर इतिहास रचा था। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 इंटरनेशनल में एक अनोखा रिकॉर्ड बनाया। इस टी20 सीरीज में भारत ने ऑस्ट्रेलिया का व्हाइटवॉश किया था। इसके साथ ही धोनी पिछले 14 दशकों में ऑस्ट्रेलिया को उसी के धरती पर व्हाइटवॉश करने वाला एकमात्र कप्तान बन गया।

5. एमएस धोनी का वनडे में सबसे ज्यादा नॉट आउट का रिकॉर्ड

एमएस धोनी को दुनिया का बेस्ट फिनिशर माना जाता है। धोनी ने कई बार आखिर तक रहकर भारत को कुछ रोमांचक मैच जितवाए हैं। धोनी को धीमी गति से पारी को शुरुआत करने के लिए जाना जाता है, लेकिन धोनी परिस्थितियों के अनुसार गियर बदलने में माहिर हैं। एकदिवसीय क्रिकेट में उन्होंने सबसे ज्यादा नॉट आउट होने का रिकॉर्ड बनाया है। 348 एकदिवसीय मैचों की 296 पारियों में धोनी 84 मौकों पर नाबाद रहे हैं, जो कि वनडे क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे अधिक नॉट आउट होने का रिकॉर्ड है।

Next Story
Share it
Top