Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

R Ashwin का इंग्लैंड के कप्तान मॉर्गन को जवाब, कहा- नैतिकता का पाठ पढ़ाना बंद करो

अश्विन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैदान पर पूरी ताकत से लगाते हुए नियमों के अंदर रहकर खेलें, और फिर खेल खत्म होने के बाद एक-दूसरे से हाथ मिलाएं, यही एकमात्र ‘खेल की भावना’ है जिसे मैं समझता हूं।

R Ashwin का इंग्लैंड के कप्तान मॉर्गन को जवाब, कहा- नैतिकता का पाठ पढ़ाना बंद करो
X

खेल। मंगलवार को हुए 41वें मुकाबले में कोलाकात नाइटराइडर्स और दिल्ली कैपिटल्स (KKR vs DC) के बीच मैच खेला गया। इस मैच दिल्ली के स्पिनर आर अश्विन (R Ashwin) और केकेआर के कप्तान इयोन मॉर्गन (Eoin morgan) के कारण काफी सुर्खियों में रहा। दरअसल इस मुकाबले के दौरान ये दोनों खिलाड़ी आपस में भिड़ गए, इसके बाद अश्विन की खेल भावना पर कई सवाल उठे। लेकिन इन सब के बीच अश्विन ने खुद अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया है।

इन सब के बाद अश्विन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैदान पर पूरी ताकत से लगाते हुए नियमों के अंदर रहकर खेलें, और फिर खेल खत्म होने के बाद एक-दूसरे से हाथ मिलाएं, यही एकमात्र 'खेल की भावना' है जिसे मैं समझता हूं।

वहीं अश्विन ने आगे लिखा कि मुझे भ्रमित किया जा रहा है कि अगर आप रन लेने से इनकार करते हैं या नॉन-स्ट्राइकर को चेतावनी देते हैं तो बेशक आप अच्छे इंसान कहलाए जाएंगे। क्योंकि ये सभी लोग जो आपको अच्छा या बुरा कह रहे हैं, वो खुद पहले ही अपना जीवन जी चुके हैं या फिर वे वही कर रहे हैं जो कहीं और सफल होने के लिए जरूरी है।

साथ ही उन्होंने कहा कि जब मैंने फील्डर को थ्रो करते देखा तो मैं रन लेने के लिए दौड़ने के लिए मुडा लेकिन मुझे नहीं पता था कि गेंद पंत को लगी थी। अगर मैं इसे देखता तो क्या मुझे दोड़ना चाहिए था? बेशक मैं ये करता क्योंकि ये खेल के नियमों में मान्य है। लेकिन मॉर्गन के मुताबकि मेरा व्यवहार खेल की भावना के विपरीत था?


गौरतलब है कि वर्ल्ड कप 2019 फाइनल में भी इंग्लैंड के बेन स्टोक्स के बल्ले से टकराकर गेंद गई थी तो इंग्लैंड को चार रन मिले थे जिसे अंपायरों ने ओवर थ्रो करार दिया। इसके बाद इंग्लैंड ने मुकाबला जीत लिया था। वहीं अश्विन जब आउट हुए तो टिम साउदी ने कहा कि चीटिंग करने पर यही होगा। इस पर अश्विन ने एक के बाद एक ट्वीट करके कहा कि अगर दोबारा गेंद बल्लेबाज से टकराकर जाएगी तो वह फिर रन लेंगे।

बता दें कि इस मुकाबले में कोलकाता की जीत हुई थी, उसने दिल्ली को 3 विकेट से हराया था। लेकिन दिक्कत उस वक्त हुई जब कोलकाता के फील्डर राहुल त्रिपाठी ने थ्रो फेंका और गेंद क्रीज पर मौजूद ऋषभ पंत से टकरा कर गेंद दूर चली गई। अश्विन ने इसके बाद रन लेने के लेने का प्रयास किया। मैच के बाद केकेआर के विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने खुलासा करते हुए कहा कि कप्तान मॉर्गन को लगा कि ये खेल की भावना के विपरीत है इसलिए टिम साउदी की गेंद पर जब अश्विन आउट हुए तो मॉर्गन ने अश्विन को ये बात कही। वहीं मैदान से बाहर जा रहे अश्विन रुक गए और वो मॉर्गन की तरफ बढ़ने लगे। हालांकि, कार्तिक उस समय दोनों के बीच आ गए और उन्होंने अश्विन से आग्रह किया कि वह मैदान से चले जाएं। साथ ही कार्तिक ने कहा कि फिलहाल मैं इतना कहूंगा कि मुझे खुशी है कि मैंने मामला शांत करने में भूमिका निभाई।

और पढ़ें
Next Story