Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

IND vs NZ: Mumbai Test में चलेगा Virat Kohli का बल्ला!, वानखेड़े में कोहली के 'विराट' रिकॉर्ड

रिकॉर्ड में 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ कोहली ने धमाकेदार दोहरा शतक लगाते हुए 235 रनों की पारी खेली थी। साथ ही विराट ने 6 पारियों में 4 बार 50 से ज्यादा रन बनाए।

IND vs NZ: Mumbai Test में चलेगा Virat Kohli का बल्ला!, वानखेड़े में कोहली के विराट रिकॉर्ड
X

खेल। लंबे समय से फॉर्म से बाहर चल रहे भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज विराट कोहली (Virat Kohli) 3 दिसंबर से खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट में मैदान पर वापसी करेंगे। दरअसल उन्हें वर्ल्ड कप (World Cup 2021) के बाद न्यूजीलैंड (New Zealand) टीम के खिलाफ टी20 मैचों की सीरीज और पहले टेस्ट में आराम दिया गया था। लेकिन अब उन्हें मुंबई टेस्ट (Mumbai) में टीम की कमान संभालनी है। इसके लिए वह जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं। वहीं ऐसा कहा जा रहा है कि वह मुंबई टेस्ट में एक बार फिर से अपनी खोई हुई फॉर्म में वापसी कर सकते हैं।

वानखेड़े में कोहली का रिकॉर्ड 'विराट'

वानखेड़े की बात करें तो इस स्टेडियम में विराट कोहली का रिकॉर्ड बेहद ही शानदार है। लगभग 1 महीने बाद कोहली के मैदान पर वापसी करने के साथ ही कीवी टीम के लिए मुश्किल शुरु हो गई है। क्योंकि कोहली से धमाकेदार वापसी की उम्मीद की जा रही है। इस स्टेडियम में कोहली ने 4 टेस्ट मैचों की 6 पारी में 433 रन बनाए हैं।

इस रिकॉर्ड में 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ कोहली ने धमाकेदार दोहरा शतक लगाते हुए 235 रनों की पारी खेली थी। साथ ही विराट ने 6 पारियों में 4 बार 50 से ज्यादा रन बनाए। बता दें कि विराट कोहली ने लंबे समय से शतक नहीं लगाया है इसलिए इस मुकाबले में उन्हें उम्मीद होगी कि वह शतक लगाए।

इसके साथ ही उन्होंने 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ आखिरी टेस्ट में शतक लगाया था जो की कोलकाता के इडन गार्डन्स में खेला गया था। वहीं अगर कोहली इस मुकाबले में शतक ठोक देते हैं तो वह रवि शास्त्री और सैय्यद किरमानी को पीछे सकते हैं।

रिकॉर्ड के अनुसार शास्त्री के नाम 10 पारियों में 457 रन हैं जबकि किरमानी ने 13 पारियों में 477 रन बनाए हैं। लेकिन सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड सुनील गावस्कर के नाम है। उन्होंने 20 पारियों के दौरान 112 रन बनाए हैं साथ ही 5 शतक भी लगाए हैं।


मैनेजमेंट के लिए असमंजस की स्थिति

फिलहाल कोहली की वापसी से मैनेजमेंट के ऊपर दबाव बन गया है। क्योंकि लगातार खराब प्रदर्शन से जूझ रहे सीनियर खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे के दूसरे टेस्ट से बाहर होने का खतरा है। इसके पीछे एक कारण और भी बताया जा रहा है और वो हैं कानपुर टेस्ट में अपना ड्रीम डेब्यू करने वाले श्रीयस अय्यर। मैनेजमेंट अय्यर के प्रदर्शन को दरकिनार नहीं करना चाहते। इसलिए ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि मैनेजमेंट ऐसी स्थिति में क्या करेगा?

Next Story