Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सौरव गांगुली और हरभजन सिंह ने क्यों कहा, भगवान भारतीय क्रिकेट को बचाए

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को हितों के टकराव के मुद्दे पर भेजे गए नोटिस (Conflict Of Interest Notice) पर बुधवार को बीसीसीआई (BCCI) को जमकर लताड़ लगाई है।

सौरव गांगुली और हरभजन सिंह ने क्यों कहा, भगवान भारतीय क्रिकेट को बचाए

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को हितों के टकराव के मुद्दे पर भेजे गए नोटिस (Conflict Of Interest Notice) पर बुधवार को बीसीसीआई (BCCI) को जमकर लताड़ लगाई है। हितों के टकराव का मतलब है एक साथ दो पद संभालना। सौरव गांगुली को भी इस आरोप का सामना करना पड़ा था। दरअसल इस समय वह क्रिकेट असोसिएशन ऑफ बंगाल (CAB) अध्यक्ष और साथ ही दिल्ली कैपिटल्स के मेंटर भी हैं।


बीसीसीआई के एथिक्स अधिकारी डी.के. जैन ने राहुल द्रविड़ को नोटिस भेज हितों के टकराव के मुद्दे पर सफाई मांगी थी। दरअसल मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के सदस्य संजीव गुप्ता ने द्रविड़ ने खिलाफ शिकायत की थी, जिसके बाद यह फैसला लिया गया। द्रविड़ के खिलाफ शिकायत करने वाले संजीव गुप्ता का आरोप है कि राहुल द्रविड़ वर्तमान में नेशनल क्रिकेट अकैडमी (NCA) के निदेशक भी हैं और वह इंडिया सीमेंट्स ग्रुप के उपाध्यक्ष भी हैं।



सौरव गांगुली गांगुली ने ट्वीट करते हुए लिखा कि भारतीय क्रिकेट में नया फैशन है हितों का टकराव, खबरों में बने रहने का सबसे अच्छा तरीका है। भगवान भारतीय क्रिकेट की मदद करे, द्रविड़ को बीसीसीआई के एथिक्स ऑफिसर से हितों के टकराव मामले में नोटिस मिला है।



इसके अलावे हरभजन सिंह ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि वास्तव में मुझे पता नहीं यह कहां जा रहा है। आप भारतीय क्रिकेट में उनसे बेहतर व्यक्ति नहीं देख सकते। ऐसे महान खिलाड़ियों को लिए नोटिस भेजना उन्हें अपमानित करने जैसा है। क्रिकेट की बेहतरी के लिए उनकी सेवाओं की आवश्यकता है। हां, भारतीय क्रिकेट को भगवान बचाए।

बता दें कि राहुल द्रविड़ से पहले सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण को भी हितों के टकराव के मुद्दे पर नोटिस भेजा गया था। सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण क्रिकेट सलाहकार समिति के सदस्य के साथ-साथ आईपीएल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद के मेंटर की भूमिका भी निभा रहे थे। जिसकी वजह से इन दोनों को नोटिस भेजा गया था।

Next Story
Share it
Top