Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंग्लैंड के इस दिग्गज ने टीम इंडिया पर लगाए आरोप, कहा- भारत ने नहीं की टेस्ट क्रिकेट और सीरीज की इज्जत

इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी पॉल न्यूमैन ने कहा है कि भारत ने टेस्ट क्रिकेट और सीरीज की इज्जत नहीं की। साथ ही उन्होंने भारत पर कोविड-19 को लेकर जारी गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाने का आरोप भी लगाया है।

इंग्लैंड के इस दिग्गज ने टीम इंडिया पर लगाए आरोप, कहा- भारत ने नहीं की टेस्ट क्रिकेट और सीरीज की इज्जत
X

खेल। भारत और इंग्लैंड (Ind vs Eng) के बीच खेला जाने वाला पांचवां और आखिरी मैच रद्द हो गया। वहीं इस मैच के रद्द होने के बाद से ही इंग्लिश क्रिकेटर्स लगातार भारत पर कई सवाल उठा रहे हैं। इन्हीं में से एक हैं इंग्लैंड (England) के पूर्व खिलाड़ी पॉल न्यूमैन (Paul Newman)। जिन्होंने भारत पर गंभीर आरोप लगाए हैं। दरअसल न्यूमैन ने कहा है कि भारत ने टेस्ट क्रिकेट और सीरीज की इज्जत नहीं की। साथ ही उन्होंने भारत पर कोविड-19 को लेकर जारी गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाने का आरोप भी लगाया है। यही नहीं न्यूमैन ने भारतीय खिलाड़ियों (Indian cricketers), आईपीएल (IPL) और बीसीसीआई (BCCI) पर अपनी भड़ास भी निकाली है।

बता दें कि सीरीज के आखिरी टेस्ट के पहले दिन भारतीय टीम के सहायक फीजियो योगेश परमार कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जिसके बाद से ही खिलाड़ियों ने आखिरी मैच खेलने से मना कर दिया था। क्योंकि खिलाड़ियों को डर था कि कहीं वो भी संक्रमित ना हो जाएं। इसलिए इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी मुकाबले को रद्द कर दिया गया था।

वहीं न्यूमैन ने कहा कि अगर भारत के अधिकतर खिलाड़ी क्रिकेट के दुनिया के सबसे महंगी लीग को खेलने के लिए बुधवार दुबई नहीं जा रहे होते तो सीरीज को आखिरी मुकाबले से पहले ही दिन रद्द नहीं किया जाता। बता दें कि पॉल न्यूमैन ने ये सभी बातें डेली मेल के लिए कॉलम में लिखीं। साथ ही उन्होंने लिखा कि आईपीएल कॉन्ट्रेक्ट वाला कोई भी भारतीय खिलाड़ी सीरीज के आखिरी मैच में खेलने का खतरा नहीं उठाना चाहता था। क्योंकि उसे डर था कि कोरोना से संक्रमित होने पर उसे 10 दिन इंग्लैंड में ही रहना पड़ता। और वह यूएई में होने वाले आईपीएल के दूसरे फेज में हिस्सा नहीं ले पाते।

उन्होंने लिखा, 'योगेश परमार का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आना वह वजह थी, जिस कारण भारतीय खिलाड़ियों को बोरिया-बिस्तर बांधने और इंग्लैंड से जल्द से जल्द बाहर निकलने की जरूरत महसूस हुई। भले ही वे गुरुवार शाम उन सभी के कोविड-19 टेस्ट निगेटिव आए रहे हों।' न्यूमैन ने लिखा, 'एक बार जब उनके टेस्ट निगेटिव आ गए थे तब फिर नहीं खेलने का कोई कारण नहीं होना चाहिए था।'

न्यूमैन यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि योगेश परमार के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद ही भारतीय खिलाड़ियों को इंग्लैंड से जल्द से जल्द बाहर निकलने की जरूरत महसूस हुई। जबकि गुरुवार को उन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद सीरीज ना खेलने का तो सवाल ही नहीं होना चाहिए था।

Next Story