Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

KKR मॉर्गन को कप्तानी से हटाएगी? हेड कोच ब्रैंडन मैक्कलम के खिलाफ भी टीम सख्त

इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) और हेड कोच ब्रैंडन मैक्कलम (Brendon McCullum) के खिलाफ केकेआर फ्रेंचाइजी कड़े कदम उठा सकती है।

KKR मॉर्गन को कप्तानी से हटाएगी? हेड कोच ब्रैंडन मैक्कलम के खिलाफ भी टीम सख्त
X

मॉर्गन को कप्तानी से हटाएगी कोलकाता की टीम

खेल। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) के बाद अब आईपीएल फ्रेंचाइजी (IPL franchise) कुछ विदेशी खिलाड़ियों (Foreign Players) के पुराने नस्लीय भेदी ट्वीट को लेकर सख्त हो गई है। इसी कड़ी में कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के कप्तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) और हेड कोच ब्रैंडन मैक्कलम (Brendon McCullum) के खिलाफ केकेआर फ्रेंचाइजी कड़े कदम उठा सकती है। दरअसल मॉर्गन, जोस बटलर और मैक्कलम भारतीय लहजे का मजाक उड़ा रहे थे। साल 2018 में इंग्लैंड के वनडे-टी20 कप्तान मॉर्गन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर ने भारतीय प्रशंसकों का मजाक उड़ाने के लिए 'सर' शब्द का इस्तेमाल किया था। बाद में दोनों की बातचीत में मैक्कलम जुड़ गए। इसमें शामिल कुछ लोगों ने जाहिर तौर पर पोस्ट को हटा दिया है लेकिन उनके बातचीत का स्क्रीनशॉट पहले ही सामने आ चुका है।

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, केकेआर के सीईओ वेंकी मैसूर ने कहा, "इस समय टिप्पणी करने के लिए इसके बारे में हम ज्यादा नहीं जानते। किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले सभी तथ्यों को जानने की प्रक्रिया को पूरा करें, केकेआर किसी भी भेदभाव के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाएगा।"

टेलीग्राफ यूके की एक रिपोर्ट में इंग्लैंड के खिलाड़ियों की ट्विटर टिप्पणियों पर कहा गया, "इन ट्वीट के सटीक संदर्भ पर हालांकि सवालिया निशान लगा है, लेकिन ये ऐसे समय में लिखे गए जबकि बटलर और मॉर्गन इंग्लैंड के स्थापित खिलाड़ी बन चुके थे और सोशल मीडिया पर अपराध किया है।" इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। वहीं हाल में ही इंग्लैंड बोर्ड ने ओली रॉबिन्सन को आपत्तिजनक ट्वीट के चलते इंटरनेशनल क्रिकेट से निलंबित कर दिया है।

बता दें कि दो दिन पहले ही ईसीबी ने इस मामले में एक बयान जारी कर कहा था कि हम ओली रॉबिन्सन के मामले के बाद सतर्क हो गए हैं। इसलिए अतीत में कई और खिलाड़ियों द्वारा किए गए विवादित पोस्ट जिस पर सार्वनजिक रूप से सवाल खड़े किए गए हैं, उस पर भी हमारी नजर है। हमारे खेल में भेदभाव की कोई जगह नहीं है, हम जरूरी कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। ये सिर्फ एक केस से जुड़ा मामला नहीं है, हर केस को अलग तरीके से देखा जाएगा। सभी तथ्यों के आंकलन के बाद आगे की कार्रवाई तय होगी।

Next Story