Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Virender Sehwag ने 99 पर छक्का लगाकर बैट उठाया, लेकिन नहीं बना सके सेंचुरी, बोले - मुझे नहीं पता ऐसा कोई नियम

Virender Sehwag Birthday : वीरेंद्र सहवाग को कोई रन नहीं मिला, और अब जीत के लिए महज 1 रन की जरुरत थी और वीरेंद्र सहवाग को अपना शतक पूरा करने के लिए भी। अगली गेंद पर वीरेंद्र सहवाग ने अपने स्टाइल में आगे बढ़कर छक्का लगाया, और गेंद सीधा बॉउंड्री के पार जा गिरी। वीरेंद्र सहवाग ने बैट उठाया, क्योंकि उन्हें लगा कि उनका शतक पूरा हो चुका है लेकिन

Virender Sehwag ने 99 पर छक्का लगाकर बैट उठाया, लेकिन नहीं बना सके सेंचुरी, बोले - मुझे नहीं पता ऐसा कोई नियम
X

Virender Sehewag Birthday : पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग का आज 42वां जन्मदिन है। मुल्तान के सुलतान कहे जाने वाले सहवाग जब क्रीज पर होते थे, तब अच्छे अच्छे गेंदबाजों के पसीने छूट जाते थे। सहवाग दिल्ली के नजफगढ़ क्षेत्र में रहते थे, और यहां से वह दिल्ली के फिरोज शाह कोटला स्टेडियम में अभ्यास के लिए जाते थे। वीरेंद्र सहवाग अपनी अटैकिंग बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे।

वह चाहे 99 पर खेल रहे हों या 199 पर, सहवाग उस समय भी छक्का लगाते थे। लेकिन क्या हो जब 99 के स्कोर पर बल्लेबाज छक्का लगाए, लेकिन बल्लेबाज का शतक पूरा नहीं हो पाए। ऐसा ही एक किस्सा वीरेंद्र सहवाग के साथ हुआ था, जब सहवाग ने 99 रनों पर छक्का तो लगाया लेकिन वह 99 पर ही नॉट आउट रहे।

वीरेंद्र सहवाग 99 नॉट आउट

वीरेंद्र सहवाग और एमएस धोनी बैटिंग कर रहे थे, लक्ष्य था 171 रन का और सामने थी श्री लंका के गेंदबाज। छोटे से लक्ष्य को पाने में भारतीय क्रिकेट टीम को कोई मुश्किल नहीं आई, टीम को जीत के लिए अंत में 96 गेंदों में 5 रन की जरुरत थी। वीरेंद्र सहवाग 99 पर बैटिंग कर रहे थे। सूरज रंदीव के ओवर की पहली गेंद वीरेंद्र सहवाग के बल्ले से बिना लगे, कीपर से झटकते हुए बॉउंड्री लाइन पार कर गई।

वीरेंद्र सहवाग को कोई रन नहीं मिला, और अब जीत के लिए महज 1 रन की जरुरत थी और वीरेंद्र सहवाग को अपना शतक पूरा करने के लिए भी। अगली गेंद पर वीरेंद्र सहवाग ने अपने स्टाइल में आगे बढ़कर छक्का लगाया, और गेंद सीधा बॉउंड्री के पार जा गिरी। वीरेंद्र सहवाग ने बैट उठाया, क्योंकि उन्हें लगा कि उनका शतक पूरा हो चुका है लेकिन ऐसा हुआ नहीं था। दरअसल ये गेंद नो बॉल थी, और टीम 1 रन के साथ जीत गई इसलिए सहवाग के खाते में कोई रन नहीं जुड़ा।

वीरेंद्र सहवाग बोले मुझे नहीं पता था नो बॉल का ये नियम

वीरेंद्र सहवाग ने बताया था कि इसके बाद गेंदबाज रंदीव ने मुझसे सॉरी भी कहा था। वीरेंद्र सहवाग ने बताया था कि उन्हें इस नियम के बारे में नहीं पता था और इसलिए उन्होंने नो बॉल के बावजूद अपना बैट उठाया था क्योंकि उन्हें लगा कि छक्का मारकर अपना शतक पूरा कर लिया है। सहवाग ने साथ ही कहा था कि वैसे ये 99 सबसे ज्यादा चर्चित रहता है, मेरे शतकों से भी ज्यादा तो मुझे अपना शतक पूरा नहीं करने का कोई गम नहीं है।

Next Story