Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bhuvneshwar Kumar बोले Sachin Tendulkar को पहली बार मैंने शून्य पर आउट किया था, बढ़ा था आत्मविश्वास

Bhuvneshwar Kumar: भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि भारत में करोड़ों लोग क्रिकेटर बनना चाहते हैं, इतने लोगों में से जब आपको भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने का मौका मिलता है तो यकीनन अच्छा लगता है। भारतीय टीम में शामिल होना सपने जैसा था।

Bhuvneshwar Kumar बोले Sachin Tendulkar को पहली बार मैंने शून्य पर आउट किया था, बढ़ा था आत्मविश्वास
X
Bhuvneshwar Kumar

कोरोनावायरस (Coronavirus) का असर खेल जगत पर भी पड़ा है, इसी वजह से देश विदेश में सभी तरह के खेल आयोजन स्थगित किए जा चुके हैं। दुनिया में इस समय कहीं पर क्रिकेट मैच भी नहीं खेले जा रहे, भारत में होने वाले आईपीएल 2020 (Indian Premier League 2020) को भी स्थगित किया गया है। घर पर रहते हुए सभी क्रिकेटर्स एक दूसरे से सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़ रहे हैं। इसी कड़ी में कल आईपीएल की टीम सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) के खिलाड़ी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वार्नर (David Warner) और भारतीय गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) जुड़े।

दोनों क्रिकेटर्स ने क्रिकेट को लेकर चर्चा की, और इसी लाइव चैट में भुवि ने बताया कि अगर आप सर्च करेंगे तो पाएंगे कि सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy History) में पहली बार शून्य पर आउट करने वाला गेंदबाज मै था।

भुवनेश्वर कुमार बोले सचिन तेंदुलकर का विकेट लेने के बाद बढ़ा था आत्मिश्वास

भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने कहा कि भारत में करोड़ों लोग क्रिकेटर बनना चाहते हैं, इतने लोगों में से जब आपको भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) में खेलने का मौका मिलता है तो यकीनन अच्छा लगता है। भारतीय टीम में शामिल होना सपने जैसा था। डेविड वार्नर के सचिन की विकेट को लेकर किए सवाल पर भुवनेश्वर कुमार ने कहा- रणजी ट्रॉफी में मै वो पहले गेंदबाज था, जिसने सचिन तेंदुलकर शून्य पर आउट (Sachin Tendulkar 0 Score In Ranji Trophy) किया था। यकीनन इससे मेरा आत्मविश्वास बहुत बढ़ा था।

Also Read- Virat Kohli और De Villiers नीलाम करेंगे अपनी किट, कोरोनावायरस के लिए देंगे डोनेशन

ये ऐसा ही है जैसे आज कोई युवा गेंदबाज विराट कोहली को शून्य पर आउट करता है तो उसका भी आत्मविश्वास बढ़ जाएगा। भुवनेश्वर कुमार ने बताया कि सचिन की विकेट के बाद उन्हें लगता था कि अब वो किसी भी बल्लेबाज का विकेट लेने सकते हैं। आपको बता दें कि भुवनेश्वर कुमार ने सचिन तेंदुलकर को 2008-09 रणजी के सत्र में शून्य पर आउट किया था, तब भुवनेश्वर कुमार की उम्र 18 वर्ष थी।

Next Story