Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Ban Vs Ind 1st Test : पहला दिन भारत के नाम, बांग्लादेश 150 रन पर ढेर

मोहम्मद शमी की अगुआई में गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से बांग्लादेश को 150 रन पर ढेर करने के बाद भारत ने पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के पहले दिन पहली पारी में एक विकेट पर 86 रन बनाकर अपना पलड़ा भारी रखा।

Ban Vs Ind 1st Test :  पहला दिन भारत के नाम, बांग्लादेश 150 रन पर ढेर

मोहम्मद शमी की अगुआई में गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से बांग्लादेश को 150 रन पर ढेर करने के बाद भारत ने पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के पहले दिन पहली पारी में एक विकेट पर 86 रन बनाकर अपना पलड़ा भारी रखा। दिन का खेल खत्म होने पर चेतेश्वर पुजारा 43 जबकि सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल 37 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए थे। भारत ने रोहित शर्मा (06) के रूप में एकमात्र विकेट गंवाया है। पुजारा ने 61 गेंद का सामना करते हुए सात चौके मारे जबकि अग्रवाल की 81 गेंद की पारी छह चौके शामिल हैं। भारत अब पहली पारी के आधार पर बांग्लादेश से सिर्फ 64 रन से पीछे है जबकि उसके नौ विकेट शेष हैं।

बांग्लादेश की टीम इससे पहले शमी (27 रन पर तीन विकेट), इशांत शर्मा (20 रन पर दो विकेट), रविचंद्रन अश्विन (43 रन पर दो विकेट) और उमेश यादव (47 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने 58 . 3 ओवर में 150 रन पर ही सिमट गई। टीम ने अपने अंतिम पांच विकेट सिर्फ 10 रन पर गंवाए। मुशफिकुर रहीम (43) और कप्तान मोमीनुल हक (37) ही बांग्लादेश की ओर से 30 रन के आंकड़े को पार कर पाए।

भारत की भी शुरुआत अच्छी नहीं रही और मेजबान टीम ने 14 रन के स्कोर पर ही रोहित का विकेट गंवा दिया जिन्होंने अबु जायद की गेंद पर विकेटकीपर लिटन दास को कैच थमाया। पुजारा और अग्रवाल ने इसके बाद पारी को संवारा। अग्रवाल ने इबादत हुसैन की पहली ही गेंद पर चौके से खाता खोला और फिर इस तेज गेंदबाज पर एक और चौका मारा। पुजारा अच्छी लय में दिखे। उन्होंने ताइजुल इस्लाम पर तीन चौके मारे के बाद इबादत पर लगातार दो चौकों के साथ 16वें ओवर में भारत का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया।

अग्रवाल 32 रन के निजी स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब जायद की गेंद पर कायेस ने उनका आसान कैच टपका दिया। अग्रवाल ने जीवनदान का फायदा उठाकर इसी ओवर में चौका जड़ा। इससे पहले बांग्लादेश ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए। भारत ने चाय के विश्राम से पहले की दो गेंद और ब्रेक के बाद पहली गेंद पर विकेट हासिल किए। शमी ने चाय के विश्राम से पहले की अंतिम दो गेंद पर रहीम और मेहदी हसन मिराज (00) को पवेलियन भेजा। मुशफिकुर शमी की तेजी से अंदर आती गेंद को विकेटों पर खेल गए जबकि अगली गेंद पर भारतीय तेज गेंदबाज ने मिराज को पगबाधा किया।

मिराज हालांकि दुर्भाग्यशाली रहे कि उन्होंने डीआरएस नहीं लेने का फैसला किया क्योंकि रीप्ले में दिखा कि गेंद स्टंप से नहीं टकरा रही थी। चाय के बाद पहली गेंद पर इशांत ने लिटन दास (21) को भी स्लिप में कप्तान कोहली के हाथों कैच करा दिया जिससे बांग्लादेश ने तीन गेंद पर तीन विकेट गंवाए। ताइजुल एक रन बनाने के बाद रन आउट हुए जबकि उमेश ने इबादत (02) को बोल्ड करके बांग्लादेश की पारी का अंत किया। अश्विन इससे पहले दुर्भाग्यशाली रहे जब स्लिप में अजिंक्य रहाणे ने उनकी गेंद पर दो बार कैच छोड़ा। रहाणे ने मुशफिकुर और महमूदुल्लाह रियाद (10) के कैच छोड़े। उमेश की गेंद पर कोहली ने भी स्लिप में बांग्लादेश के कप्तान मोमीनुल का कैच टपकाया।

भारत को हालांकि कोई भी जीवनदान अधिक महंगा नहीं पड़ा। अश्विन ने अपनी गेंद पर दो कैच छूटने के बाद बायें हाथ के मोमीनुल को बोल्ड करके पहली सफलता हासिल की। अश्विन की गेंद पर जीवनदान मिलने के बाद महमूदुल्लाह भी इस आफ स्पिनर पर गैरजरूरी शाट खेलने की कोशिश में बोल्ड हो गए। सुबह मोमीनुल ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद तेज गेंदबाजों उमेश, इशांत और शमी ने मेहमान टीम के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया।

पहले घंटे में अतिरिक्त उछाल से बांग्लादेश के बल्लेबाजों को काफी दिक्कत हुई। टीम में वापसी कर रहे सलामी बल्लेबाज इमरूल कायेस (06) शुरू से ही परेशान दिखे। उमेश की तेजी से अंदर आती गेंद के सामने कई बार वह बेबस नजर आए। उमेश को भी हालांकि गेंदबाजी करते हुए दिक्कत हुई और वह पिच पर डेंजर जोन में जा रहे थे जिसके लिए उन्हें चेतावनी भी मिली। बाद में इशांत को भी चेतावनी मिली। उमेश ने कायेस को तीसरी स्लिप में कैच कराकर भारत को पहली सफलता दिलाई।

दूसरी तरफ इशांत ने अपनी लंबाई का फायदा उठाकर अच्छा उछाल हासिल किया। उन्होंने युवा सलामी बल्लेबाज शादमान इस्लाम (06) को विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच कराके बांग्लादेश को दूसरा झटका दिया। मोहम्मद मिथुन (11) इसके बाद कप्तान का साथ देने के लिए क्रीज पर उतरे। दोनों ने 11 ओवर तक भारतीय गेंदबाजों को सफलता से महरूम रखा लेकिन इस दौरान सिर्फ 19 रन बने जिससे भारतीय गेंदबाज दबाव बरकरार रखने में सफल रहे।

डीआरएस पर अंपायर काल के कारण जीवनदान पाने वाले मिथुन हालांकि शमी की गेंद पर उतने भाग्यशाली नहीं रहे और पगबाधा हो गए जिससे बांग्लादेश का स्कोर तीन विकेट पर 31 रन हो गया। बांग्लादेश का चौथा विकेट भी पहले सत्र में गिर जाता लेकिन उमेश की गेंद पर कोहली मुशफिकुर का मुश्किल कैच लेने में नाकाम रहे।

Next Story
Share it
Top