Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मौलवी साहब ने सानिया को बताया गैर-इस्‍लामिक, कहा- ये गलत है

एक टीवी शो में मौलवी साजिद रशीद ने सानिया के पहनावे को गैर-इस्‍लामिक बताया है।

मौलवी साहब ने सानिया को बताया गैर-इस्‍लामिक, कहा- ये गलत है
नई दिल्ली. हम अकसर फतवों के बारे में सुनते हैं और ये फतवे समाज और धर्म के लिए लोगों पर लगाए जाते हैं। भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा के पहनावे को लेकर मौलाना साजिद राशिद ने विवादित कमेंट कर एक बार फिर उनके ड्रेस को लेकर विवाद छेड़ दिया है। एक न्यूज चैनल पर कार्यक्रम के दौरान एंकर तारिक फतेह ने मौलाना से बुर्के की पाबंदी पर सवाल किए जिसके बाद मौलाना न जाने कहां से यहां सानिया मिर्जा को बीच में ले आए। मौलाना साजिद ने सानिया मिर्जा को इस्लाम के खिलाफ बताते हुए कहा कि उनका ड्रैसअप गलत संदेश देता है।

साजिद ने आगे कहा कि उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि सानिया ने पूरी दुनिया में कितना नाम कमाया है। क्योंकि सानिया इस्लाम को फॉलो नहीं करतीं और बुर्का नहीं पहनतीं। इस पर वहां मौजूद महिला गेस्ट्स और एंकर ने मौलाना से पूछा कि क्या सानिया बुर्का पहनकर टेनिस खेलें ? मौलाना ने ये भी कहा कि मुस्लिम लड़कियों के ऐसे खेल नहीं खेलने चाहिए जहां उन्हें बुर्का उतारना पड़े।
रशीदी ने आगे कहा कि मैंने कभी फिल्‍म नहीं देखी। टीवी पर न्‍यूज देखना कोई गुनाह नहीं है। पूरी दुनिया से बाख़बर होना गुनाह नहीं है। रशीदी ने कहा कि बुर्का इस्‍लामी लिबास नहीं है। उन्‍होंने पैनल पर मौजूद महिला से कहा कि मेरे पास छड़ी है, मैं इलाज कर दूंगा। बदतमीजी पर आएंगी तो मैं आपसे ज्‍यादा बदतमीज हो सकता हूं। बदतमीज औरत। औरत हैं तो नाजायज फायदा उठाएंगी। रशीद ने महिलाओं के लिए इस्‍लामिक कानून की व्‍याख्‍या करते हुए कहा कि औरत के लिए सिर्फ जरूरत के वक्‍त में हथेली खोलने की इजाजत है, चेहरे का भी पर्दा है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top