Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Commonwealth Games 2022: भारतीय महिला टेबल टेनिस में फिर खड़ा हुआ बखेड़ा, जानिए क्या है पूरा मामला

भारतीय टेबल टेनिस टीम (Indian table tennis team)में फिर से नया विवाद पैदा (new controversy) हो गया है। इस बार यह उसके कॉमनवेल्थ गेम्स के अभियान के बीच में सामने आया (Commonwealth Games campaign) है। महिला टीम स्पर्धा में मौजूदा(women's team event) चैंपियन के रूप में टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे भारत को क्वार्टर-फाइनल में मलेशिया ने उलटफेर का शिकार बनाया।

Commonwealth Games 2022:  भारतीय महिला टेबल टेनिस में फिर खड़ा हुआ बखेड़ा, जानिए क्या है पूरा मामला
X

भारतीय टेबल टेनिस टीम (Indian table tennis team)में फिर से नया विवाद पैदा (new controversy) हो गया है। इस बार यह उसके कॉमनवेल्थ गेम्स के अभियान के बीच में सामने आया (Commonwealth Games campaign) है। महिला टीम स्पर्धा में मौजूदा(women's team event) चैंपियन के रूप में टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे भारत को क्वार्टर-फाइनल में मलेशिया ने उलटफेर का शिकार बनाया। दोनों टीमों में इतना अंतर था कि मलेशिया के कुछ खिलाड़ी तो विश्व रैंकिंग में भी शामिल नहीं (world rankings)हैं।

महिला कोच नॉकआउट चरण के इस मैच के दौरान अनुपस्थित रहीं

भारतीय टीम की नामित महिला कोच अनिंदिता(women's coach Anindita Chakraborty) चक्रवर्ती नॉकआउट चरण के इस मैच के दौरान अनुपस्थित(raising many questions) रहीं, जिससे कई सवाल उठने लगे। उनके बजाय पुरुष टीम के कोच एस रमन कोर्ट के पास में बैठे हुए थे। भारतीय टेबल टेनिस संघ (Table Tennis Association of India) का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति के एक सदस्य एसडी मुदगिल ने कहा, 'ऐसा नहीं होना चाहिए (Only the female coach) था। महिलाओं के मैच के दौरान महिला कोच को ही उपस्थित होना चाहिए था। मैं इस मामले में टीम के साथ बात करूंगा।' मुदगिल को टीम मैनेजर के रूप में भारतीय टीम के साथ बर्मिंघम में होना चाहिए था लेकिन खेल मनोचिकित्सक गायत्री वर्ताक को टीम से जोड़ने के लिए वह भारत(join sports psychiatrist Gayatri Vartak) में ही रुके रहे।

रमन को रीत ऋष्य को कोचिंग देते हुए देखा

रमन पुरुष खिलाड़ी जी साथियान के निजी कोच (coaching Rit Rishya)हैं। क्वार्टर फाइनल मुकाबला जब बेहद कड़ा हो गया था तब रमन को रीत ऋष्य को कोचिंग देते हुए देखा गया। इस अप्रत्याशित हार के बाद मनिका बत्रा की अगुवाई वाली टीम (unexpected defeat, the Manika Batra-led) यहां तक कि मीडिया से बात करने के लिए भी नहीं रुकी जो कि इस तरह की बड़ी प्रतियोगिताओं में मानक प्रोटोकॉल होता है।

रमन ने मुकाबले के बाद कहा, 'यह बेहद करीबी मुकाबला था। हमारे लिए संयोजन पूरी तरह से अलग (combination)था। एक डिफेंसिव खिलाड़ी, एक बाएं हाथ का खिलाड़ी और दाएं हाथ का खिलाड़ी का संयोजन हमारे लिए चुनौतीपूर्ण था। लड़कियों ने कड़ी चुनौती पेश की लेकिन (tough challenge) आज का दिन हमारा नहीं था।'

और पढ़ें
Next Story