Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Commonwealth Games 2018: वर्ल्ड नंबर वन किदांबी श्रीकांत ने जीता सिल्वर , ड्राप में किया शानदार प्रदर्शन

कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में किदांबी श्रीकांत ने बेडमिंटन प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता है। पुरूष वर्ग के बेडमिंटन फाइनल में श्रीकांत मलेशिया के ली चोंग वेई से मुकाबला हार गए।

Commonwealth Games 2018: वर्ल्ड नंबर वन किदांबी श्रीकांत ने जीता सिल्वर , ड्राप में किया शानदार प्रदर्शन
X

कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में किदांबी श्रीकांत ने बेडमिंटन प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता है। पुरूष वर्ग के बेडमिंटन फाइनल में श्रीकांत मलेशिया के ली चोंग वेई से मुकाबला हार गए।

इसे भी पढ़ेंः Commonwealth Games 2018: सिंधु को हराकर साइना ने मारी बाजी, जीता एक और गोल्ड, भारत को मिले 26 गोल्ड मेडल

हाल में विश्व के नंबर एक खिलाड़ी बने किदाम्बी श्रीकांत शुरूआती बढ़त का फायदा लेने में नाकाम रहे और राष्ट्रमंडल खेलों की बैडमिंटन प्रतियोगिता के पुरूष एकल के फाइनल में आज यहां मलेशियाई दिग्गज ली चोंग वेई से हारने के कारण उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

राष्ट्रमंडल खेल में ली ने जीते 3 गोल्ड

श्रीकांत ने इससे पहले मिश्रित टीम चैंपियनशिप में ली को हराया था लेकिन विश्व का पूर्व नंबर एक खिलाड़ी आज यहां 19-21, 21-14, 21-14 से जीत दर्ज करके उसका बदला चुकता करने में सफल रहा। ली का यह राष्ट्रमंडल खेलों के एकल में तीसरा स्वर्ण है।

उनके नाम पर मिश्रित टीम के दो स्वर्ण पदक भी दर्ज हैं। भारतीय खिलाड़ी से लगभग दस साल बड़े ली ने अपना सर्वश्रेष्ठ आखिर के लिये बचाया था। उन्होंने अपने शानदार रिफलेक्स का बेजोड़ नमूना पेश किया।

श्रीकांत ने ड्राप में किया शानदार प्रदर्शन

श्रीकांत ने हालांकि उन्हें आसानी से जीत दर्ज नहीं करने दी। श्रीकांत ने पहले गेम में 0-4 से पिछड़ने के बाद 10-7 से बढ़त बनायी। भारतीय खिलाड़ी ने ड्राप शाट में बेहतर प्रदर्शन किया और ब्रेक तक 11-9 से बढ़त बनाये रखी।

शुरू में ली की चिरपरिचित चपलता भी देखने को नहीं मिली और श्रीकांत यह गेम 25 मिनट में 21-19 से जीतने में सफल रहे। दूसरे गेम में तब नाटकीय मोड़ आया जब लगा कि ली ने एक अंक बनाने के लिये दो बार शटल पर रैकेट मारा है।

श्रीकांत ने किया विरोध

श्रीकांत के विरोध के बावजूद ली को इसके लिये जुर्माना नहीं लगा और मैच चलता रहा। इसके बाद ली के खेल में सुधार देखने को मिला और वह ब्रेक तक 11-9 से आगे थे। उन्होंने अपने कई कलात्मक शाट का नजारा पेश किया और दूसरा गेम जीतकर मैच को बराबरी पर ला दिया।

निर्णायक गेम में लीग जब 9-5 से आगे थे तब उन्होंने अपना रैकेट बदला। इसके बाद उन्हें अच्छे परिणाम मिले और ब्रेक तक वह 11-5 से आगे हो गये। इसके बाद ली कुछ आत्ममुग्ध हो गये और जब वह 16-8 से आगे थे तब उन्होंने गलत अनुमान लगाकर शटल को छोड़ दिया था। इन गलतियों के बावजूद श्रीकांत इस मलेशियाई को नहीं रोक पाये। ली ने आसानी से यह मैच और स्वर्ण पदक अपने नाम किया

भारत के खाते में 65 मेडल

मुकाबले में हारने के बाद किदांबी के हिस्से में सिलवर आया और ली चोंग वेई ने गोल्ड पर कब्जा किया। इसी जीत के साथ भारत के पास अबतक 65 मेडल जीते हैं, जिनमें 26 गोल्ड, 19 सिल्वर और 20 ब्रॉन्ज मेडल शामिल है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story