Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चेन्नई ओपन: 4 साल का इंतजार खत्म, बोपन्ना-जीवन ने जीता युगल खिताब

भारतीय टेनिस के लिए यह एक बड़ा कदम है।

चेन्नई ओपन: 4 साल का इंतजार खत्म, बोपन्ना-जीवन ने जीता युगल खिताब
चेन्नई. चेन्नई में चल रहे 4,47,480 डॉलर की पुरस्कार राशि वाले चेन्नई ओपन टेनिस टूर्नामेंट में भारत का 4 साल का लंबा इंतजार रविवार को खत्म हो गया। सिर्फ दूसरी बार जोड़ीदार बनाकर खेल रहे रोहन बोपन्ना और जीवन नेदुनचेझियान ने रविवार को यहां ऑल इंडियन फाइनल में हमवतन दिविज शरण और पूरव राजा को हराकर चेन्नई ओपन टेनिस टूर्नामेंट का पुरुष युगल का खिताब जीत लिया।
दुनिया के 28वें नंबर के खिलाड़ी बोपन्ना और जीवन ने टूर्नामेंट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले दिविज और राजा को सिर्फ 65 मिनट में 6-3, 6-4 से हराया। बोपन्ना और जीवन का यह जोड़ी के रूप में पहला खिताब है और इन्होंने दिविज और राजा को तीसरा खिताब जीतने से वंचित किया।
दिविज और राजा की जोड़ी टूर्नामेंट में अपनी अब तक की लय को बरकरार नहीं रख सकी। फाइनल में खेल रहे सबसे कम अनुभव वाले खिलाड़ी जीवन ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और वह एकमात्र खिलाड़ी रहे, जिसने मैच में अपनी सर्विस नहीं गंवाई। दूसरी तरफ दिविज और राजा को अपनी सर्विस को लेकर जूझना पड़ा और मैच के नतीजे में इसकी अहम भूमिका रही।
सत्र 2017 में पाब्लो क्यूवास के साथ जोड़ी बनाने वाले बोपन्ना ने कहा, ‘यह भारतीय टेनिस के लिए बड़ा कदम है क्या पता यह किसी बच्चे को रैकेट के लिए प्रेरित करे। यह भारतीय टेनिस के लिए बड़ी जीत है।’
बोपन्ना ने जीवन की तारीफ करते हुए कहा, ‘मेरा काम उसे सहज महसूस कराना था। यहां तक कि दिविज और राजा दबाव महसूस कर रहे थे। दोनों टीमों को मौके मिले और हमने अधिक का फायदा उठाया।’
आगे की स्लाइड्स पर क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top