Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शर्मनाक: विश्व चैंपियन कबड्डी टीम को 10 लाख देकर उड़ाया मजाक

कबड्डी टीम को अन्य खेलों के मुकाबले खेल मंत्रायल ने दी कम राशि

शर्मनाक: विश्व चैंपियन कबड्डी टीम को 10 लाख देकर उड़ाया मजाक
नई दिल्ली. दो बार से विश्व चैंपियन रही भारतीय कबड्डी टीम ने एक बार फिर विश्व विजेता बनकर खेल की दुनिया में भारत का नाम रौशन किया है। भारत में खेलों के साथ किस तरह का भेदभाव किया जाता है, इसका ताजा नमूना कबड्डी विश्व चैंपियंस को देखकर मिलता है। भारत ने पिछले दिनों अहमदाबाद में ईरान को हराकर कबड्डी विश्व कप खिताब पर कब्जा बरकरार रखा था। एक तरफ भारत कबड्डी को ओलिंपिक में शामिल करने की बात कर रहा है, लेकिन इस विश्व चैंपियन टीम को खेल मंत्रालय द्वारा जो इनामी राशि दी गई उसे सुनकर सिर शर्म से झुक जाता है।
इंडिया टाइम्स के मुताबिक, कबड्डी टीम को खेल मंत्रालय की तरफ से 10 लाख रुपए इनामी राशि दी गई, इसके तहत प्रत्येक खिलाड़ी को मात्र 67,000 रुपए मिले। कें‍द्रीय मंत्री विजय गोयल ने इस इवेंट को भुनाने की कोशिश की और यह भी कहा था कि वे इस खेल को ओलिंपिक में शामिल कराने का प्रयास करेंगे, लेकिन केंद्रीय मंत्रालय की तरफ से कोई इनाम घोषित नहीं किया गया। रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को इनाम के रूप में 13 करोड़ रुपए मिले जबकि 2011 विश्व कप विजेता भारतीय क्रिकेट टीम के प्रत्येक खिलाड़ी को औसत 1.3 करोड़ रुपए मिले।
तो वही दूसरी तरफ भारत की जीत के हीरो अजय ठाकुर ने कहा कि यह जीत उनके लिए मिश्रित भावनाओं वाली रही। जहां उन्हें इस उपलब्धि की खुशी हैं, वहीं इस बात का मलाल है कि टूर्नामेंट आयोजकों के अलावा किसी ने भी विश्व विजेता टीम के खिलाडि़यों को सम्मानित करना उचित नहीं समझा। सबसे ज्यादा आश्चर्य इस बात को लेकर है कि किसी भी राज्य ने टीम के खिलाडि़यों के लिए इनामों की घोषणा नहीं की। हमारे लिए पैसे का ज्यादा महत्व नहीं है, लेकिन दुख इस बात का है कि हमारी सफलता को पूरा श्रेय नहीं दिया गया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top