Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उलटफेर के दिन चोटिल नडाल भी बाहर, एक क्लिक में जानिए ऑस्ट्रेलियाई ओपन का पूरा हाल

भारत के रोहन बोपन्ना और हंगरी की टिमिया बाबोस की जोड़ी ऑस्ट्रेलियाई ओपन मिश्रित युगल के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई।

उलटफेर के दिन चोटिल नडाल भी बाहर, एक क्लिक में जानिए ऑस्ट्रेलियाई ओपन का पूरा हाल
X

भारत के रोहन बोपन्ना और हंगरी की टिमिया बाबोस की जोड़ी ऑस्ट्रेलियाई ओपन मिश्रित युगल के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई। पांचवीं वरीयता प्राप्त बोपन्ना और बाबोस ने अमेरिका की वानिया किंग और क्रोएशिया के फ्रांको स्कूगोर को 6-4, 6-4 से हराया। एक घंटे तक चले मुकाबले में बोपन्ना और बाबोस ने पहले सेट के तीसरे गेम में 2-1 की बढत बना ली।

दूसरे सेट के पांचवें गेम में बोपन्ना और बाबोस ने स्कूगोर की सर्विस तोड़कर स्कोर 3-2 कर लिया । उन्होंने मैच में आठ ऐस लगाए जबकि उनके विरोधी पांच ऐस ही लगा सके। बोपन्ना और बाबोस ने पिछले दौर में आस्ट्रेलिया के वाशिंगटन और पेरेज को 6-2, 6-4 से हराया था। अब उनका सामना कोलंबिया के जुआन सेबेस्टियन काबाल और अमेरिका की एबिगेल स्पीयर्स से होगा। बोपन्ना अब आस्ट्रेलियाई ओपन में अकेले भारतीय बचे हैं। लिएंडर पेस, पूरव राजा, दिविज शरण और खुद बोपन्ना पुरुष युगल से तीसरे दौर में बाहर हो गए।

नडाल और सिलिच में रहा कड़ा मुकाबला

राफेल नडाल का दूसरा ऑस्ट्रेलियाई ओपन खिताब जीतने का अभियान चोट के कारण बाहर हो जाने से मंगलवार को थम गया जबकि उलटफेर से भरे दिन में गैरवरीयता प्राप्त काइल एडमंड और एलिस मर्टन्स सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहे। विश्व के नंबर एक खिलाड़ी नडाल को राड लीवर एरेना में मारिन सिलिच के खिलाफ चौथे सेट के दौरान दाएं पांव के ऊपरी हिस्से में परेशानी महसूस हुई। दर्द के बावजूद उन्होंने खेल जारी रखा लेकिन आखिर में पांचवें और निर्णायक सेट में वह बाहर हो गए। जब उन्होंने रिटायर होने का फैसला किया तब सिलिच 3-6, 6-3, 6-7 (5/7) 6-2, 2-0 से आगे चल रहे थे।

इसे भी पढ़े: शोएब अख्तर का छलका दर्द, भारत के बारे में कह दी इतनी बड़ी बात

स्वितोलिना को हराकर मर्टेंस सेमीफाइनल में

ऑस्ट्रेलिया ओपन में पहली बार खेल रही गैर वरीय एलिसे मर्टेंस ने दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी एलिना स्वितलोना को सीधे सेटों में हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। बेल्जियम की इस खिलाड़ी ने उक्रेन की स्वितलोना को एक घंटे 13 मिनट में 6-4, 6-0 से हराया । इस महीने होबर्ट में खिताब जीतने के बाद से वह लगातार दस मैच जीत चुकी है । अभी तक एक भी सेट नहीं गंवाने वाली मर्टेंस किम क्लाइटजर्स ( 2012 ) के बाद अंतिम चार में पहुंचने वाली बेल्जियम की पहली खिलाड़ी है। वह अब तक चार ग्रैंडस्लैम खेली है और एक में भी तीसरे दौर से आगे नहीं पहुंची। अब उसका सामना दूसरी वरीयता प्राप्त कैरोलिन वोज्नियाकी या गैर वरीय कार्ला सुआरेज नवारो से होगा।

दिमित्रोव ऑस्ट्रेलिया ओपन से बाहर

विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर काबिज ग्रिगोर दिमित्रोव को सोमवार को यहां गैरवरीय इंग्लैंड के काइल एडमंड ने ऑस्ट्रेलियाई ओपन के क्वार्टरफाइनल मुकाबले में हराकर बाहर का रास्ता दिखाया। विश्व रैंकिंग में 49वें स्थान पर काबिज एडमंड ने दिमित्रोव को दो घंटे 49 मिनट चले मुकाबले में 6-4, 3-6, 6-3, 6-4 से शिकस्त देकर सेमीफाइनल में जगह पक्की की। इस जीत के साथ ही एडमंड ग्रैंडस्लैम के सेमीफाइनल में पहुंचे वाले छठे ब्रिटिश खिलाड़ी बन गए।

एडमंड ने पांच बार तोड़ी दिमित्रोव की सर्विस

अंतिम चार में उन्हें 16 बार के ग्रैंडस्लैम विजेता राफेल नडाल और मारिन सिलिच के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ना होगा। टूर्नामेंट के पहले दौर में अमेरिकी ओपन के उपविजेता केविन एंडरसन को हराने वाले एडमंड ने दिमित्रोव की सर्विस को पांच बार तोड़ने के साथ 46 विनर्स लगाए लेकिन उन्होंने 48 सहज गल्तियां भी की। जीत के बाद एडमंड ने कहा, मेरे लिए यह अद्भूत है, ऐसे नतीजे से काफी खुश हूं। आप भावनत्मक रूप से इतना जुड़ जाते हैं कि इसका ठीक से लुत्फ नहीं उठा पाते है।

इसे भी पढ़े: IND vs SA: भारत साख बचाने तो अफ्रीका क्लीन स्वीप करने उतरेगा, टीम से इस दिग्गज की छुट्टी तय

पिछले साल नडाल से हार गए थे दिमित्रोव

राड लावेर एरेना में यह मेरा पहला मैच था और यह काफी खास है। दिमित्रोव पिछले साल इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में नडाल से हार गए थे। रैंकिंग में तीसरे स्थान पर होने के बाद भी वह किसी ग्रैंडस्लैम के सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ सके। उन्होंने कहा, ‘खुद की निराशा को छुपाना मुश्किल है। मैं ऐसा ही सोच रहा हूं। इससे काफी दुख हुआ और होना भी चाहिए। दो दिन तक आराम करने के बाद मैं इस दौर के बारे में सोचूंगा।’

मीशा ज्वेरेव पर भारी जुर्माना

मीशा ज्वेरेव आस्ट्रेलियाई ओपन में पहले दौर से पीछे हटने के कारण भारी जुर्माना भरने वाले पहले खिलाड़ी हो गए। नए नियमों के तहत चोट के कारण जो भी खिलाड़ी एकल मुख्य ड्रा के पहले दौर में रिटायर होता है या पेशेवर स्तर से खराब प्रदर्शन करता है तो उसे पहले दौर की ईनामी राशि तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। ज्वेरेव दक्षिण कोरिया के चुंग हियोन के खिलाफ पहले दौर के मुकाबले से दूसरे सेट के बाद ही पीछे हट गए थे। उन पर 45000 डालर जुर्माना लगाया गया है। उनकी पुरस्कार राशि 47000 डालर थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story