Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

वीरेंद्र सहवाग को यूं ही नहीं कहा जाता था ''डुप्लीकेट सचिन तेंदुलकर'', ये रिकॉर्ड दे रहे हैं गवाही

विश्व क्रिकेट के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजो में से एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग का जन्म 20 अक्टूबर 1978 को अनाज व्यापारी के घर नई दिल्ली में हुआ था। एक अप्रैल 1999 को पाकिस्तान के खिलाफ इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरुआत करने वाले वीरेंद्र सहवाग ने भारतीय क्रिकेट में ऐसी छाप छोड़ी कि उन्हें डुप्लीकेट सचिन तेंदुलकर तक का खिताब मिल गया।

वीरेंद्र सहवाग को यूं ही नहीं कहा जाता था

विश्व क्रिकेट के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजो में से एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग का जन्म 20 अक्टूबर 1978 को अनाज व्यापारी के घर नई दिल्ली में हुआ था। सहवाग ने आधुनिक क्रिकेट में अपनी पहचान दुनिया के सबसे खतरनाक सलामी बल्लेबाज के रूप में बनाया।

एक अप्रैल 1999 को पाकिस्तान के खिलाफ इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरुआत करने वाले वीरेंद्र सहवाग ने भारतीय क्रिकेट में ऐसी छाप छोड़ी कि उन्हें डुप्लीकेट सचिन तेंदुलकर तक का खिताब मिल गया। सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक भी लगाए हैं।

इसे भी पढ़ें: HBD Special: अपने ही रिश्तेदार को दिल दे बैठे थे वीरेन्द्र सहवाग, तस्वीरों में जानें शादी को तैयार नहीं थी फैमिली

आगे जानते हैं वीरेंद्र सहवाग की उन उपलब्धियों के बारे में जिसने उन्हें 'मुल्तान का सुल्तान' बना दिया

1 वीरेंद्र सहवाग के नाम टेस्ट क्रिकेट में 23 शतक और 32 अर्धशतक दर्ज हैं जबकि वनडे क्रिकेट में उन्होंने 15 शतक और 38 अर्धशतक लगाए हैं।

2 साल 2004 में वीरेंद्र सहवाग ने पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान में 309 रनों की पारी खेली और टेस्ट इतिहास में तिहरा शतक लगाने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बनने के साथ ही 'मुल्तान के सुल्तान' की उपाधि भी मिली।

3 वीरेंद्र सहवाग ने साल 2008 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाबाद 319 रनों की पारी खेली जिसमें उन्होंने महज 278 गेंदों में ही तिहरा शतक जड़ा था जो कि टेस्ट क्रिकेट इतिहास का सबसे तेज तिहरा शतक है।

4 वीरेंद्र सहवाग टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में दो तिहरे शतक लगाने वाले दुनिया के चौथे बल्लेबाज हैं। उनके अलावा ब्रायन लारा (375 और 400), डॉन ब्रैडमैन (334 और 304) और क्रिस गेल (333 और 317) रन बनाए हैं।

5 अपने 11 साल के टेस्ट करियर के दौरान वीरेंद्र सहवाग ने छह दोहरे शतक लगाए हैं। वीरेंद्र सहवाग ने 8 दिसंबर 2011 को वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाया, ऐसा करने वाले वह तेंदुलकर के बाद दूसरे बल्लेबाज बने थे। इस पारी के दौरान उन्होंने 149 गेंदों में 219 रन बनाए थे।

6 वीरेंद्र सहवाग दिसंबर 2009 में श्रीलंका के खिलाफ मुंबई टेस्ट में 293 रन पर आउट हो गए। अगर वह तिहरा शतक लगाने में कामयाब हो जाते तो वह दुनिया के पहले बल्लेबाज बन जाते।

7 वीरेंद्र सहवाग दुनिया के अकेले ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने 28 बार अपनी पारी की शुरुआत चौका लगाकर की है। साथ ही सहवाग ने 25 बार शतक, दोहरा शतक और तिहरा शतक बाउंड्री लगाकर पूरा किया है।

8 टेस्ट इतिहास में पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान में वीरेंद्र सहवाग जब 295 रन पर थे तो उन्होंने छक्के लगाकर अपना तिहरा शतक पूरा किया था। ऐसा कारनामा शायद ही किसी से हो पाए।

9 वीरेंद्र सहवाग ने एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया है जो शायद ही कोई खिलाड़ी तोड़ पाए. उन्होंने दिसंबर 2003 से जुलाई 2008 के बीच 11 टेस्ट शतक लगाए। इन सभी शतकों में वो अपना स्कोर 150 रन से ज्यादा का बनाया है।

10 वीरेंद्र सहवाग 90s, 190s और 290s में आउट होने वाले पहले खिलाड़ी हैं. सहवाग पांच बार 90s (90,90,92,96 और 99), एक बार 190s (195) और एक बार 290s (293) में आउट हुए हैं।

वीरेंद्र सहवाग का क्रिकेट करियर

वीरेंद्र सहवाग भारत की ओर से 104 टेस्ट मैचों में 47.34 के औसत और 82.34 के स्ट्राइक रेट से 8586 रन बनाए हैं। वहीं 251 वनडे मैचों में 35.05 की औसत और 104.33 के स्ट्राइक रेट से 8273 रन बनाए हैं।

वीरेंद्र सहवाग ने छह दोहरे शतक लगाए हैं। वीरेंद्र सहवाग के नाम टेस्ट क्रिकेट में 23 शतक और 32 अर्धशतक दर्ज हैं जबकि वनडे क्रिकेट में उन्होंने 15 शतक और 38 अर्धशतक लगाए हैं। सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक भी लगाए हैं।

Share it
Top