Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चेन्नईयन, गोवा और बेंगलुरु की टीमें सेमीफाइनल में पहुँचने की दावेदार

पूर्व भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी बाईचुंग भूटिया ने कहा मेरे लिए तीन टीमों चेन्नईयन एफसी, एफसी गोवा और बेंगलुरु एफसी के प्रदर्शन में बाकी टीमों की तुलना में ज्यादा निरंतरता रही है।

चेन्नईयन, गोवा और बेंगलुरु की टीमें सेमीफाइनल में पहुँचने की दावेदार
X

पूर्व भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी बाईचुंग भूटिया ने कहा 18 मैच खेले जाने हैं और अब सिर्फ नौ बचे हैं। हीरो इंडियन सुपर लीग में सभी 10 टीमें 9-9 मैच खेल चुकी हैं। इससे सभी को एक-दूसरे के खेल के बारे में अच्छी समझ हो चुकी होगी और उन्हें पता है कि दूसरे हाफ में क्या करना है।

मेरे लिए तीन टीमों चेन्नईयन एफसी, एफसी गोवा और बेंगलुरु एफसी के प्रदर्शन में बाकी टीमों की तुलना में ज्यादा निरंतरता रही है और सेमीफाइनल में पहुंचने की दावेदार हैं। यहां से शीर्ष चार टीमों में से कोई भी खिताब जीत सकती है।

सेमीफाइनल के चौथे स्थान के लिए मुझे लगता है कि एफसी पुणे​ सिटी, मुंबई सिटी एफसी और केरला ब्लास्टर्स एफसी के बीच जंग है। जेजे लेपेखलुआ को चेन्नयईन के लिए 6 गोल कर चार्ट में आगे रहते हुए देखकर खुशी हो रही है।

इसे भी पढ़े: IND vs SA: गावस्कर समेत इन दिग्गज क्रिकेटरों ने दूसरे टेस्ट में टीम चयन पर उठाए सवाल

18 गज के बॉक्स में उनकी आक्रामकता ने काफी अंतर पैदा कर दिया है जबकि मिडफील्ड लगातार गोल करने के मौके बना रहा है। एफसी गोवा सर्वश्रेष्ठ आक्रामक टीमों से एक है। फेरन कोरोमिनास और मैनुअल लांजारोते मिलकर 16 गोल कर चुके हैं।

कोरोमिनास 9 और लांजारोते 7 गोल कर चुके हैं और दोनों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा चल रही है। विपक्षी टीम के लिए यह बुरा सपने की तरह है और इस जोड़ी से किसी को भी जलन हो सकती है।

बेंगलुरु एफसी सबसे ज्यादा संगठित टीम रही है और इंटर-जोनल एएफसी कप फाइनल में खेलने का अनुभव भी उनके पास है। वे आत्मविश्वास से भरे और जीत के​ लिए भूखे दिख रहे हैं। मुझे लगता है कि एएफसी कप क्वालीफायर में खेलने से टीम ज्यादा एकजुट हुई है।

हालांकि बहुत ज्यादा यात्रा करने के चलते खिलाड़ियों को रोटेट करना उनके लिए अहम होगा। पुणे एफसी भी एक आक्रामक टीम के रूप में उभरी है, लेकिन बालेवाड़ी स्टेडियम जैसा छोटा मैदान आक्रामक टीम के लिए एक अभिशाप साबित हो जाता है।

कहीं न कहीं मुझे लगता है कि वे घरेलू मैदान में संघर्ष कर रहे हैं। मुंबई एफसी भी बिना कोई शोर किए अच्छा प्रदर्शन कर रही है और मैदान में सही चीजें कर रही है। इस बीच नए मैनेजर डेविड जेम्स ब्लास्टर्स की मौजूदगी ब्लास्टर्स के लिए सही साबित हुई है।

वे कागजों पर हमेशा काफी मजबूत दिखाई देते हैं और जेम्स इयान हृयू को फिर से फॉर्म में लाने में सफल हुए हैं, वो भी हैट्रिक के साथ। अभी काफी फुटबॉल खेला जाना है, तो देखते रहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story