Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाक कोच का दावा, हमें भी मिला अपना विराट कोहली

आजम एक जवान लड़का है और एक अलग खिलाड़ी होगा

पाक कोच का दावा, हमें भी मिला अपना विराट कोहली
नई दिल्ली. क्रिकेट की दुनिया में इतनी तेजी से शायद कोई नहीं उभरा होगा जितनी तेजी से भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली उभरे हैं। एक समय था खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर की तरह खेलना चाहते थे। लेकिन, अब वक्त कोहली का है। अब हर खिलाड़ी कोहली की तरह खेलना और रन बनाना चाहता है। इस बीच पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कोट मिकी आर्थर का कहना है कि उनके पास भी बाबर आजम के रुप में विराट कोहली है। हालांकि यह पहली बार नहीं है जब उन्हें किसी भारतीय बल्लेबाज की झलक किसी पाकिस्तानी खिलाड़ी में दिखाई दी हो। इससे पहले आर्थर को असद शफीक में सचिन तेंदुलकर की झलक दिखाई दी थी।
मिकी आर्थर का यह बयान न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन टेस्ट में बाबर की नाबाद 90 रनों की पारी खेलने के बाद आया है। पाकिस्तान के कोच ने इस 22 वर्षीय खिलाड़ी का क्रिकेट में सुनहरा भविष्य बताया है। सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से बातचीत में 48 वर्षीय दक्षिण अफ्रीकी व्यक्ति ने यह तुलना की है।
आर्थर ने कहा “आजम एक जवान लड़का है और एक अलग खिलाड़ी होगा। इस उम्र में जैसे कोहली थे वैसे ही वे जैसे लगते हैं। यह प्रशंसा थोड़ी अधिक है लेकिन ठीक है।“
2008 में 19 वर्ष की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय मैच से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले कोहली का अब तक का कॅरियर बहुत शानदार रहा है। इस दौरान भारतीय टेस्ट कप्तान ने 176 एकदिवसीय मैचों में 52.93 की औसत से 7570 रन बनाए हैं जिसमें 26 शतक शामिल है।
टेस्ट मैचों में भी कोहली ने अच्छा खेल दिखाया है जहां 51 टेस्ट मैचों में उन्होंने 48.28 की औसत से 3959 रन बनाए हैं जिसमें 14 शतक शामिल है, और लगातार तकनीक पर कोहली काम करते रहे हैं। क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में भी कोहली ने धमाका करते हुए 57.13 की औसत से रन बनाए हैं।
22 वर्ष की उम्र तक कोहली ने भारत के लिए टेस्ट मैचों में पदार्पण नहीं किया था क्योंकि उस समय भारतीय टेस्ट टीम में सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण जैसे दिग्गज खेला करते थे। जबकि टी20 में कोहली का कॅरियर सिर्फ शुरुआती पड़ाव पर था।
बाबर ने पाकिस्तान के लिए अब तक खेले 18 एकदिवसीय मैचों में 52.11 की औसत से 886 रन बनाए हैं, वहीं टी20 में उन्होंने अभी तक सिर्फ 4 मैच खेले हैं। टेस्ट में बाबर ने तीन मैचों में 232 रन बनाए हैं। जबकि कोहली ने 2011 में वेस्टइंडीज में तीन टेस्ट मैचों में सिर्फ 76 रन बनाए थे।
भारतीय टेस्ट कप्तान ने 2011-12 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टीम के संघर्ष के दौरान शानदार रन बनाए। इसके अलावा श्रीलंका के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए 86 गेंदों पर 133 रन बनाते हुए उन्होंने आवश्यक रन रेट का मजाक बना दिया था।
दिलचस्प यह भी है कि आर्थर ने यह तुलना भी ऐसे समय की है जब पाकिस्तान की टीम को तीन टेस्ट और पांच एकदिवसीय मैच ऑस्ट्रेलिया में खेलने हैं, और हाल ही वे न्यूजीलैंड से टेस्ट सीरीज में 2-0 से पराजित हुए हैं।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top