Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Asian Games 2018: युवा निशानेबाजों को मिलेगी कड़ी चुनौती, 15 और 16 साल के अनीश, मनु पर गोल्ड का दारोमदार

अनीश भानवाला, मनु भाकर और इलावेनिल वालारिवान रविवार से शुरू होने वाले एशियाई खेलों की निशानेबाजी स्पर्धा में पदक हासिल करने का प्रयास करेंगे लेकिन उनके लिए चीन और दक्षिण कोरिया कड़ी चुनौती पेश करेंगे।

Asian Games 2018: युवा निशानेबाजों को मिलेगी कड़ी चुनौती, 15 और 16 साल के अनीश, मनु पर गोल्ड का दारोमदार
X

अनीश भानवाला, मनु भाकर और इलावेनिल वालारिवान रविवार से शुरू होने वाले एशियाई खेलों की निशानेबाजी स्पर्धा में पदक हासिल करने का प्रयास करेंगे लेकिन उनके लिए चीन और दक्षिण कोरिया कड़ी चुनौती पेश करेंगे। अनीश और मनु की उम्र क्रमश: 15 और 16 साल है।

ये दोनों राष्ट्रमंडल खेलों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल और 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर सुर्खियों में रहे थे। लेकिन राष्ट्रमंडल में चुनौती एशियाई खेलों की तुलना में इतनी कड़ी नहीं थी और देखना होगा कि वे दबाव में कैसा प्रदर्शन करते हैं।

इसे भी पढ़ें: भारत के खिलाफ 3 शतक जमा चुके पाक क्रिकेटर पर लगा 10 साल का बैन, एक क्लिक में जानें पूरा मामला

गोल्ड कोस्ट में सात स्वर्ण पदक जीते थे

भारत ने गोल्ड कोस्ट में सात स्वर्ण पदक जीते थे और देश ने एशियाई खेलों के इतिहास में इतने ही स्वर्ण पदक हासिल किये हैं। केवल चार निशानेबाज जसपाल राणा, रोंजन सोढी, रणधीर सिंह और जीतू राय ही यहां सोने का तमगा जीत सके हैं।

जसपाल कोच के तौर पर यहां टीम के साथ हैं, वह पहले ही युवाओं पर दिये जा रहे गैरजरूरी ध्यान के बारे में बात कर चुके हैं। हालांकि वह उनके पदक जीतने की संभावनाओं से इनकार नहीं करते।

मनु शुरूआती दिन अभिषेक वर्मा के साथ

मनु शुरूआती दिन अभिषेक वर्मा के साथ पिस्टल मिश्रित टीम स्पर्धा में उतरेंगी। वह पहले ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफलता का स्वाद चख चुकी हैं, उन्होंने मार्च में गुआदालाजारा विश्व कप में दो स्वर्ण पदक जीते और इसके बाद वह गोल्ड कोस्ट में पोडियम पर रहीं।

अनीष ने जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में दो स्वर्ण

वहीं अनीष ने जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में दो स्वर्ण पदक हासिल किये और उन्हें सीनियर स्तर पर अपनी काबिलियत साबित करनी है, जिससे एशियाई खेल उनके लिये बड़ी परीक्षा होंगे। वहीं 19 वर्षीय इलावेनिल भी शानदार निशानेबाज हैं जिन्होंने साल के शुरू में विश्व रिकार्ड के साथ सिडनी जूनियर विश्व कप की 10 मीटर राइफल स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतकर सुर्खियां बटोरीं थीं।

संजीव राजपूत

संजीव राजपूत गोल्ड कोस्ट में 50 मीटर राइफल थ्री पाजीशन में स्वर्ण पदक जीतने के बाद यहां पहला स्थान हासिल करने की कोशिश करेंगे। उन्हें भी इलावेनिल से काफी उम्मीदें हैं।

टीम स्पर्धा की अनुपस्थिति से भारतीय टीम को बड़ा झटका लगा हैं राजपूत ने खुद 2006 से 2014 तक तीन टीम पदक जीते हैं और अब वह व्यक्तिगत पदक अपने नाम करने को प्रतिबद्ध हैं। 50 मीटर राइफल थ्री पाजीशन में अखिल शेरॉन अन्य भारतीय निशानेबाज हैं।

अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार

अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार कल जकाबारिंग शूटिंग रेंज की मिश्रित टीम स्पर्धा में भारत का राइफल अभियान शुरू करेंगे। टीम में काफी युवा निशानेबाज हैं लेकिन सीनियर जैसे हीना सिद्धू (पिस्टल), मानवजीत सिंह संधू (ट्रैप) और श्रेयसी सिंह (ट्रैप) भी अच्छा प्रदर्शन करने को बेताब होंगे।

भारत चार साल पहले इंचियोन एशियाई खेलों में एक स्वर्ण, रजत और सात कांस्य से निशानेबाजी स्पर्धा में आठवें स्थान पर रहा था। चीन ने 27 स्वर्ण सहित 50 पदकों से पहला स्थान हासिल किया था और फिर से उसके दबदबा बनाने की उम्मीद है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story