Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

#ENGvIND: ये दो भारतीय सलामी बल्लेबाज, धवन और विजय से बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं

इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट हारने के बाद भारतीय टीम को श्रृंखला के अपने दूसरे मैच में जाने से पहले विचार करने के लिए बहुत कुछ है। शिखर धवन और मुरली विजय ने खराब शॉट खेले जिससे उनकी बल्लेबाजी में गिरावट आई।

#ENGvIND: ये दो भारतीय सलामी बल्लेबाज, धवन और विजय से बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं

इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट हारने के बाद भारतीय टीम को श्रृंखला के अपने दूसरे मैच में जाने से पहले विचार करने के लिए बहुत कुछ है। भारतीय क्रिकेट टीम की हार का एक प्रमुख कारण भारतीय बल्लेबाजों की विफलता थी। अगर विराट कोहली का चमत्कारी प्रयास नहीं होता तो भारत को काफी हद तक बुरी हार का सामना करना पड़ता।

शिखर धवन और मुरली विजय ने खराब शॉट खेले जिससे उनकी बल्लेबाजी में गिरावट आई। भारतीय ओपनर्स की विदेशी स्थितियों में प्रदर्शन करने में विफलता ने अन्य बल्लेबाजों के लिए मैच को कठिन बना दिया है।

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के 7वें महीने में टेनिस खेलती नजर आईं सानिया मिर्जा, बहन के साथ का VIDEO हो रहा वायरल

सलामी बल्लेबाजों से सार्थक योगदान नहीं हुए हैं, ऐसे में चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन को टीम में मौजूदा सलामी बल्लेबाजों के भविष्य पर विचार करना चाहिए। यहां हम ऐसे दो ऐसे सलामी बल्लेबाजों के बारे में जानेंगे जिन्हें भारतीय टेस्ट टीम में सलामी बल्लेबाजों के रूप में जगह मिल सकती है।

पृथ्वी शॉ

देश में बेहतरीन युवा प्रतिभाओं में से एक पृथ्वी शॉ कुछ आकर्षक बल्लेबाजी के साथ सुर्खियों में रहे हैं। विश्व कप जीतने वाली भारत U-19 टीम की अगुआई करने के बाद शॉ ने आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए कुछ शानदार पारियां खेली।

बाद में इंग्लैंड दौरे के लिए उन्हें भारत ए टीम में चुना गया। वनडे त्रिकोणीय श्रृंखला में कुछ अच्छे प्रदर्शन के बाद शॉ ने बेकनहम में खेले गए पहले अनौपचारिक टेस्ट में वेस्टइंडीज ए के खिलाफ केवल 169 गेंदों पर 188 रनों की शानदार पारी खेली थी।

इसे भी पढ़ें: #ENGvIND: दूसरा टेस्ट: प्लेइंग इलेवन को लेकर कोहली के सामने 'विराट' मुश्किल, टीम में होंगे ये बड़े बदलाव

मयंक अग्रवाल

एक खिलाड़ी जो भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं होने के कारण सबसे ज्यादा निराश होगा, वह मयंक अग्रवाल होंगे। टेस्ट टीम में जगह बनाने के लिए अग्रवाल को जो भी चाहिए वह सब कुछ कर चुका है लेकिन अभी भी टेस्ट टीम से बाहर है। कर्नाटक के बल्लेबाज ने 2017-18 सत्र में घरेलू क्रिकेट में कई रिकॉर्ड को तोड़ा है।

उन्होंने 105.45 के शानदार औसत से रणजी ट्रॉफी में 1160 रन बनाए। अग्रवाल ने घरेलू सीज़न 2,141 रनों के साथ समाप्त किया, जो कि सभी प्रारूपों में बल्लेबाज के लिए रिकॉर्ड है। उन्होंने इंग्लैंड में इंडिया ए के लिए भी कुछ बेहतरीन पारी खेली।

Share it
Top