Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

69वां गणतंत्र दिवस: राजपथ पर दिखा शक्ति प्रदर्शन, महिला कमांडो ने दिखाए हैरतअंगेज करतब

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वायुसेना के शहीद गरुड़ कमांडो जेपी निराला को शांतिकाल के सबसे बड़े वीरता पुरस्कार अशोक चक्र से सम्मानित किया।

69वां गणतंत्र दिवस: राजपथ पर दिखा शक्ति प्रदर्शन, महिला कमांडो ने दिखाए हैरतअंगेज करतब

आज देश अपना 69वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। इस मौके पर राजपथ पर परेड निकाली जा रही है। परेड के जरिए भारत दुनिया को अपना दम दिखा रहा है। गणतंत्र दिवस पर इस बार आसियान देशों के प्रमुख मुख्य अतिथि बने हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी प्रमुखों का स्वागत किया।

इसे भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस 2018: इस बार आसियान देशों का झंडा लेकर निकलेगी परेड, जानें 10 खास बातें

लाइव अपडेट्स -

ग्यारहवीं झांकी छत्तीसगढ़ की थी। इसमें रामगढ़ की प्राचीन कलाकृतियों को दिखाया गया।
दसवीं झांकी लक्षद्वीप की थी।
नौवीं झांकी महाराष्ट्र की थी। इसमें शिवाजी के राज्याभिषेक को दिखाया गया।
आठवीं झांकी में कश्मीर को दिखाया गया।
सातवीं झांकी में उत्तराखंड की लोककला को दिखाया गया।
छठी झांकी में मणिपुर की संस्कृति को दिखाया गया।
पांचवी झांकी में मध्य प्रदेश के सांची स्तूप को दिखाया गया।
चौथी झांकी में कर्नाटक के वन्य जीवों को दिखाया गया।
तीसरी झांकी में आसियान देशों में रामायण को दिखाया गया।
दूसरी झांकी आसियान की संस्कृति पर आधारित थी।
पहली झांकी आकाशवाणी की थी। इसमें महात्मा गांधी की तस्वीर लगी थी।
2017 के राष्ट्रीय वीरता पुरस्कारों से सम्मानित देशभर के 18 बहादुर बच्चों का काफ़िला राजपथ से गुजरा।
हम सरहद के सेनानी, हम सच्चे हिन्दुस्तानी' की धुन के साथ भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की झांकी निकली।
राजपथ पर एनसीसी महिला कैडेट्स का मार्च की सीनियर डिविजिन की गर्ल्स कैडेट्स के दस्ते की अगुआई मुस्कान अग्रवाल और पूजा निकम ने की है।
भारत और आसियान देशों के संबंधो को दर्शाती विदेश मंत्रालय की झांकी।
सज-धज के ऊंट पर सवार सीमा सुरक्षा प्रहरी का दस्ता, सभी जवान 6 फीट से ऊंचे और सभी जवानों ने एक जैसी मूंछे रखी है।
महात्मा के रेडियो ब्रॉडकास्ट समेत आकाशवाणी की अब तक की यात्रा की मनोरम झलक दिखी।
गणतंत्र दिवस समारोह में पहली बार शामिल हुई आकाशवाणीएयर की झांकी।
परेड में स्कूली बच्चों ने भी हिस्सा लिया। स्कूली छात्रों ने पूरे दमखम के साथ राजपथ पर चहलकदमी की।
राजपथ पर परेड के दौरान स्वदेशी रडार स्वाथी। ये रडार एक साथ सात टारगेट को निशाना बना सकती है।
तीनों सेनाओं के साथ ही दिल्ली पुलिस के बैंड दस्ते ने भी अपना जौहर दिखाया।
थल सेना के बाद भारतीय नौसेना भी राजपथ पर पहुंच चुकी है। नौसेना के जवानों ने प्रेसीडेंट को सलामी दी।

इंडियन आर्मी के टी 90 भीष्म टैंक ने राजपथ पर किया अपने शौर्य का प्रदर्शन

राजपथ पर ASEAN देशों के झंडों के साथ गुजरा जवानों का पहला जत्था

परेड में पूर्व सैनिकों की झांकी की भी निकाली गई। इनमें अर्जन सिंह, जनरल वीएस करियप्पा समेत कई पूर्व सैनिकों की झांकी भी निकाली गई।
सबसे पहले पंजाब रेजिमेंट, मद्रास रेजिमेंट, मराठा रेजिमेंट, डोगरा रेजिमेंट, राजपूताना रेजिमेंट के जवान परेड में शामिल।
हथियारों के बाद अब सेना की टुकड़ियों की परेड शुरू हो गई है।
इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वायुसेना के शहीद गरुड़ कमांडो जेपी निराला को शांतिकाल के सबसे बड़े वीरता पुरस्कार अशोक चक्र से सम्मानित किया।
शहीद गरुड़ कमांडो जेपी निराला को मरणोपरांत अशोक चक्र से नवाजा गया। उनकी पत्नी ने राष्ट्रपति से पुरस्कार प्राप्त किया. पुरस्कार देते वक्त राष्ट्रपति कोविंद भावुक भी हो गए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का राजपथ पर स्वागत किया. राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम की शुरुआत हुई।

राजपथ पर पीएम मोदी ने आसियान देशों के नेताओं का स्वागत किया

राजपथ पर परेड में शामिल होने पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी।

गणतंत्र दिवस पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दी बधाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमर जवान ज्योति पहुंच शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान उनके साथ तीनों सेना के प्रमुख और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद रहे।

दिल्ली: बीजेपी हेड ऑफिस में अमित शाह ने फहराया तिरंगा ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह देशवासियों को गणतंत्र दिवस की बधाई दी।

सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

इस बार सिर्फ एक नहीं बल्‍कि आसियान के 10 राष्ट्राध्यक्ष गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि बन रहे हैं।

साल 1950 से ही गणतंत्र दिवस के चीफ गेस्ट का एक प्रतीकात्मक महत्व रहा है।.

इस साल आसियान के देशों के राष्ट्राध्यक्षों को बुलाना इस बात का प्रतीक है कि पूर्वी एशिया में चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए भारत 'एक्ट ईस्ट' नीति पर जोर दे रहा है।

दिल्ली में राजपथ से लाल किले तक 8 किलोमीटर लंबी परेड मार्ग पर नजर रखने के लिए मोबाइल हिट टीम, विमान-रोधी प्रणालियों और शार्पशूटर्स को तैयार रखा गया है।

दिल्ली पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों के 60,000 जवानों को मध्य दिल्ली में तैनात किया गया है।

जम्मू-कश्मीर आतंकियों के निशाने पर रहता है जिसके चलते इस मौके पर यहां हाई अलर्ट जारी।

आज की परेड के लिए सारी तैयारियां पूरी हो चुकी है। बताया जा रहा है कि साल 2018 की गणतंत्र दिवस की परेड करीब 90 मिनट तक चलेगी। इस परेड में देश की सैन्य ताकत और सांस्कृतिक विरासत दोनों एक साथ दिखेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top