Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यप्रदेश के दो भाइयों को राजस्थान कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा, रेप के मामले में किए गए थे गिरफ्तार

2015 के डाटा के अनुसार भारत में सबसे ज्यादा रेप की घटना मध्यप्रदेश में दर्ज की गई है। वहीं अगर सिर्फ नाबालिगों के रेप की घटना पर गौर करें तो हर साल 7200 से ज्यादा रेप के केस दर्ज किए जाते हैं।

मध्यप्रदेश के दो भाइयों को राजस्थान कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा, अपहरण और रेप के मामले में किए गए थे गिरफ्तारराजस्थान कोर्ट

राजस्थान कोर्ट ने दो भाईयों को रेप और अपहरण के मामले में दोषी करार दिया है। देश में हर रोज ऐसी ही कई रेप की घटनाओॆ का अंजाम दिया जाता है। सिर्फ 2012 में 24923 रेप की रिपोर्ट्स दर्ज की गई थी। 2015 के डाटा के अनुसार भारत में सबसे ज्यादा रेप की घटना मध्यप्रदेश में दर्ज की गई है। वहीं अगर सिर्फ नाबालिगों के रेप की घटना पर गौर करें तो हर साल 7200 से ज्यादा रेप के केस दर्ज किए जाते हैं। साथ ही कई रेप के केस शर्म या अन्य कारणों से दर्ज ही नहीं हो पाते हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्‍यूरो के 2006 के रिपोर्ट के अनुसार 71 प्रतिशत रेप केसों को दर्ज ही नहीं किया जाता।

राजस्थान में ऐसा ही एक रेप का केस सामने आया है। नाबालिग के अपहरण और दुष्कर्म के मामले में मध्यप्रदेश के दो भाइयों को राजस्थान कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। स्पेशल सरकारी वकील विजय कछवा ने बताया है कि जितेंद्र और उसके भाई धीरज को पॉक्सो अदालत ने आईपीसी और पॉक्सो धाराओं के अन्तर्गत दोषी करार दिया है।

क्या था मामला

25 अक्टूबर 2014 को दो भाईयों ने मिलकर एक नाबालिग लड़की का अपहरण किया था। अपहरण के बाद दस दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया था। जिसकी साजिश इन दोनो भाईयों की मां भंवरी बाई ने की थी।

कोर्ट का फैसला

जितेंद्र और उसके भाई धीरज पर आईपीसी और पॉक्सो अधिनियम की धाराएं लगाई गई है। जिसके अन्तर्गत कोर्ट ने उन दोनों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। दोनों भाईयों को कोर्ट ने 56 हजार रुपये जुर्माने के तौर पर देने का भी आदेश सुनाया है। वहीं उन दोनों की मां को कोर्ट ने बरी कर दिया है।

Next Story
Top