Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट की संपत्ति, प्रेम कहानी और ये गुप्त राज

सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट एक एक्टिव सोशल वर्कर हैं। साथ ही सारा ट्रेंड योगा इंस्ट्रक्टर हैं जो हठ और योग विन्यास सिखाती हैं।

सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट की संपत्ति, प्रेम कहानी और ये गुप्त राज
X

सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने सोमवार 17 दिसंबर 2018 को राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री पद पर शपथ ले ली है। सचिन पायलट के डिप्टी सीएम बनते ही उनकी पत्नी सारा पायलट (Sara Pilot) के नाम एक रिकॉर्ड दर्ज हो गया है। सचिन पायलट की पत्नी सारा पायलट के नाम एक अनोखा रिकॉर्ड दर्ज है। सारा पायलट देश की इकलौती ऐसी महिला हैं, जिनके दादा,पिता और भाई मुख्यमंत्री रह चुके हैं। सारा पायलट के पिता फारुख अब्दुल्लाह (Farooq Abdullah), दादा शेख अब्दुल्लाह (Sheikh Abdullah), भाई उमर अब्दुल्लाह (Omar Abdullah) और फूफा गुलाम मोहम्मद शाह जम्मू कश्मीर के सीएम रह चुके हैं। इस तरह अब सारा के पति भी डिप्टी सीएम बन चुके हैं।

सीएम की बेटी के बाद डिप्टी सीएम की पत्नी भी

कांग्रेस नेता स्वर्गीय राजेश पायलट के बेटे सचिन पायलट ने आज ही राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। सारा के नाम ये भी रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया है कि एक मजबूत राजनीतिक परिवार के बाद वह सक्षम राजनीतिक ससुराल से भी हैं। अब सीएम की बेटी के साथ डिप्टी सीएम की पत्नी भी हो गई हैं।

कांग्रेस के युवा नेता और राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट की पत्नी सारा काफी समय से सुर्खियों में हैं। सचिन पायलट और सारा की लव स्टोरी भी सोशल मीडिया पर छाई हुई है। सारा की खूबसूरती के साथ ही उनकी कमाई और प्रोफेशन से जुड़ी चीजें भी लगातार चर्चा में है।

सारा पायलट की संपत्ति

इसलिए हम आपको बता दें कि सारा की संपत्ति और आमदनी भी उनके पति से ज्यादा रही है। बहरहाल अब सचिन के डिप्टी सीएम बनने के बाद संपत्ति का मामला संतुलन में आ सकता है। खैर आइए जानते है क्या करती हैं सारा और प्रॉपर्टी से जुड़ी जरूरी बातें......

योग ट्रेनर हैं सारा पायलट

इतना ही नहीं सारा पायलट ने सचिन को राजनीति के मैदान में छोड़ खुद घर संभाल लिया। परिवार की पूरी जिम्मेदारी सारा के कंधों पर है। पर सारा सामाजिक कार्यों भी करती हैं। वह एक एक्टिव सोशल वर्कर हैं। साथ ही सारा ट्रेंड योगा इंस्ट्रक्चर हैं जो हठ और योग विन्यास सिखाती हैं।

पति सचिन से ज्यादा सारा की संपत्ति

सारा की संपत्ति की बात करें तो वह पति से अमीर ही हैं। सारा की इनकम अपने पति सचिन से दोगुनी है। सारा पायलट की आमदनी सोशल वर्क से सालाना 19 लाख रुपए से ज्यादा है। सारा के एक हलफनामे में बड़े बेटे के नाम 13.68 लाख और छोटे बेटे के नाम 2.59 लाख रुपये की चल संपत्ति दर्ज है। वहीं सचिन की आमदनी 10 लाख रूपए है और विधानसभा चुनाव से पहले एफिडेविट में पूरी प्रॉपर्टी 5 करोड़ बताई है।

सारा सचिन की लव स्टोरी

सचिन और सारा की लव स्टोरी काफी रोचक है। सचिन और सारा ने शादी के कुछ ही महीनों बाद एक टीवी शो को दिए इंटरव्यू में अपनी लव स्टोरी के राज खोले थे। उन्होंने बताया था कि सचिन और उनके परिवार में दोस्ती थी। उनकी भी सचिन से बचपन से ही दोस्ती थी।

लंदन में रहने के दौरान दोनों एक फैमिली फंक्शन में इन दोनों की यह दोस्ती प्यार में बदल गई। इस बीच सचिन लंदन से पढ़ाई पूरी कर भारत आ गए थे। सारा ने बताया कि दोनों की फोन, मैसेज, ईमेल में बात होती रहती थी। दोनों को लगा कि अब शादी कर लेना चाहिए।

हालांकि उन्हें यह उम्मीद नहीं थी कि उनकी शादी का परिवार विरोध करेगा। उन्होंने बताया कि सचिन पायलट को अपने परिवार को शादी के लिए मनाने में सफल रहे, लेकिन सारा के परिवार को आपत्ति थी।

सारा को इसकी उम्मीद नहीं थी कि उनके परिवार के लोग सचिन से शादी के लिए विरोध करेंगे। पर दोनों परिवार में जमकर हिंदू-मुस्लिम ड्रामा हुआ।

शादी में हुआ हिंदू-मुस्लिम ड्रामा

सचिन और सारा यूं तो एक दूसरे को बचपन से जानते थे। दोनों के परिवार राजनीतिक तौर पर एक दूसरे को न सिर्फ जानते थे बल्कि अच्छी-खासी दोस्ती थी। दोनों के पिता दोस्त थे एक-दूजे के घर आना जाना भी था।

ऐसे में सारा और सचिन दोस्त बन गए और बाद में दोनों में मोहब्बत हो गई। सारा और सचिन की लव स्टोरी खूब चर्चा में रही थी। पर दोनों को इस बात का अंदेशा बिल्कुल न था कि दोनों की शादी में परिवार वाले ही विरोध करेंगे।

दोनों परिवार जितने खिलाफ थे उतने ही हिंदू-मुस्लिम शादी से कट्टरपंथियों ने भी विरोध दर्ज किया। बावजूद इसके सबके खिलाफ जाकर सचिन और सारा ने 15 जनवरी 2004 को शादी कर ली।

राजनीति में नहीं आना चाहते थे सचिन

एक इंटरव्यू में सारा पायलट बताती हैं कि, हमारी शादी आसान नहीं थी, शादी से पहले सचिन ने कभी राजनीति में आना नहीं चाहते थे लेकिन पिता राजेश पायलट की मौत के बाद उन्हें राजनीति में आना पड़ा।

शादी के कुछ महीनों बाद ही सचिन राजनीति में आ गए और चुनाव लड़ा। पहले ही चुनाव में सचिन को जीत मिली तो ससुराल वाले खुश हो गए। फिर सारा के पिता ने सचिन को दामाद के रूप में स्वीकार कर लिया।

सबसे कम उम्र सांसद हैं सचिन

राजस्‍थान में कांग्रेस की राजनीति के युवा चेहरे के रूप में उभरे सचिन पायलट का जन्म सबसे कम उम्र के सांसद रह चुके हैं। सचिन का जन्म 7 सितंबर, 1977 को यूपी के सहारनपुर में हुआ है।

सचिन पायलट 14वीं लोकसभा में मात्र 26 साल की उम्र में जीत हासिल कर चुके हैं। तब उन्होंने भारत में सबसे कम उम्र में सांसद बनने का कीर्तिमान रचा है। 2009 में सचिन अजमेर से सासंद रह चुके हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story