Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देवर की कस्टडी में मौत, भाभी ने पुलिस पर लगाया गैंगरेप का आरोप, आरोपी पुलिसकर्मियों ने की DNA जांच की मांग

राजस्थान के जोधपुर जिले स्थित सरदारपुरा थाने के पुलिसकर्मियों ने डीएनए जांच कराने के लिए अर्जी दी है। पुलिसकर्मियों के ऊपर चोरी के आरोपी युवक की कस्टडी में हत्या और उसकी भाभी के साथ गैंगरेप करने का आरोप है।

देवर की कस्टडी में मौत, भाभी ने पुलिस लगाया गैंगरेप का आरोप, आरोपी पुलिसकर्मियों ने की DNA जांच की मांग
X
चोरी, रेप, पुलिस कस्टडी

राजस्थान (Rajasthan) के सरदारपुरा (Sardarpura) पुलिस थाने में एक व्यक्ति और उसकी भाभी को चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद चोरी के आरोपी युवक की पुलिस कस्टडी में मौत (Custody Murder) हो गई थी। आरोपी की भाभी ने आरोप लगाया था कि पुलिस द्वारा मारपीट किए जाने की वजह से उसके देवर की मौत हुई। जिसके बाद थाने में पुलिसकर्मियों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) किया। इस पर दुष्कर्म आरोपी पुलिसकर्मियों ने खुद को निर्दोष साबित करने के लिए डीएनए टेस्ट (DNA Test) कराए जाने की अर्जी दी है।

सरदारपुरा शहर पुलिस ने चोरी के आरोप में एक युवक और उसकी भाभी को हिरासत में लिया था। इस दौरान 3 जुलाई को युवक की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी। जिसके बाद उसकी भाभी ने आरोप लगाया था कि पुलिसकर्मियों ने उसके देवर के साथ मारपीट की, जिस वजह से उसकी मौत हो गई। मृतक की भाभी ने ये आरोपी भी लगाया था कि थाना प्रभारी रणवीर सिंह समेत आठ पुलिसकर्मियों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। मृतक की भाभी का कहना था कि पुलिस ने उसके साथ भी मारपीट की और उसके पैर के नाखून उखाड़ दिए। संगीन आरोप लगाए जाने के बाद थाना प्रभारी समेत सभी आठ आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सरदारशहर थाना पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट, मारपीट और सामुहिक दुष्कर्म की धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। पुरे मामले की जांच पुलिस मुख्यालय क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई थी।

अब तक की जांच में सामने आया कि चारो की आरोपी महिला और उसके देवर को पुलिस ने अवैध रूप से हिरासत में रखा था और उनके साथ मारपीट की थी। लेकिन मेडिकल रिपोर्ट से महिला के नाखून उखाड़ दिए जाने के आरोप पुष्टि नहीं हुई है। रिपोर्ट में सामने आया कि महिला को बीमारी थी। जिस वजह से उसके नाखून खराब थे। साथ ही मेडिकल रिपोर्ट में महिला के साथ दुष्कर्म किए जाने की पुष्टि भी नहीं हुई। जांच कर रही क्राइम ब्रांच की टीम का यह भी कहना है कि आरोपी युवक की कस्टडी में मौत होने से कुछ दिन पहले ग्रमीणों ने पीटा था। पुलिस ने युवक को ग्रामीणों से बचाया था और थाने लेकर आई थी। जिसके बाद युवक की तबीयत खराब हो गई थी। पुलिसकर्मियों द्वारा रोजनामचे में इसकी रिपोर्ट भी डाली गई थी। थाना प्रभारी के सस्पेंड हो जाने के बाद नियुक्त हुए दूसरे थाना प्रभारी ने ग्रामीणों द्वारा युवक के साथ की गई मारपीट का केस भी दर्ज किया है। क्राइम ब्रांच इस केस की भी जांच कर रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story