Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राजस्थान विधानसभा उपचुनाव से पहले बढ़ीं कांग्रेस की मुश्किलें, मंत्री ने दिया विवादित बयान

राजस्थान (Rajasthan) में 21 अक्टूबर को विधानसभा की दो सीटों पर उपचुनाव (Assembly By Polls) हैं। उससे पहले कांग्रेस नेता और मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल (Master Bhanwarlal Meghwal) ने राजस्थान सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को लेकर एक विवादित बयान दिया है। जिसका वीडियो वायरल (Viral Video) हो गया है।

राजस्थान विधानसभा उपचुनाव से पहले बढ़ीं कांग्रेस की मुश्किलें, मंत्री ने दिया विवादित बयानCongress's problems increase before Rajasthan assembly by-election, minister gives controversial statement

हरियाणा विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस (Congress) अपनी पार्टी के नेताओं को लेकर ही परेशानियों से घिरी हुई है। ऐसे में राजस्थान (Rajasthan) में भी कांग्रेस नेता पार्टी के समक्ष परेशानियां खड़ी करने में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। 21 अक्टूबर को राजस्थान विधानसभा (Rajasthan Assembly) की दो सीटों पर उपचुनाव (By Polls) होना है। जबकि पार्टी के नेता विवादित बयान देने से बाज नहीं आ रहे हैं। राजस्थान के सुजानगढ़ गोंदूसर में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसमें उपस्थित न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल (Master Bhanwarlal Meghwal) ने एक विवादित टिप्पणी की है।

मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल ने कहा कि वह सीएम के कहने पर भी कभी अपना कार्यक्रम नहीं बदलते हैं। उन्होंने राजस्थान सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के बारे में कहा कि उन्होंने मंडला उपचुनाव में प्रचार के लिए मुझे दो बार फोन किया लेकिन मैनें उनसे कह दिया कि मैं 11 तारीख तक बहुत व्यस्त हूं। उसके बाद 12 को वापस जाकर देखूंगा। उन्होंने यह तक कह दिया कि मैनें सीएम से कहा कि आप कहेंगे तो चुनाव जिता दूंगा या हरा दूंगा। वहां मौजूद लोगों ने तालियां बजाई तो मास्टर भंवरलाल ने उत्साहित होकर यह भी कह दिया कि कांग्रेस को अनुसूचित जाति का वोट तो भंवरलाल ही दिला सकता है। मेरे जेब में तो कुछ है नहीं और आप काम कुछ करते नहीं।

उनके इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिस वजह से राजस्थान की सियासत गर्मा गई है। मेघवाल पार्टी में चर्चा का विषय बने हुए हैं। इससे पहले भी अपने विवादित बयानों को लेकर भंवरलाल सुर्खियों में रह चुके हैं। जब उन्होंने पिछली गहलोत सरकार में राजस्थान के शिक्षकों को लेकर एक विवादित बयान दिया था। बात इतनी बढ़ गई थी कि उन्हें पद छोड़ना पड़ा था।

Next Story
Share it
Top