Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हनुमान बेनीवाल ने चाटुकार नेताओं को दिखायी औकात, कहा- हनुमान किसी को सैल्यूट नहीं मारता

हनुमान बेनीवाल ने चाटुकार नेताओं को औकात दिखायी है। हनुमान बेनीवाल साल 2008 में भारतीय जनता पार्टी से चुनाव जीते थे। लेकिन उन्होंने वसुंधरा राजे का विरोध बंद नहीं किया था। आखिरकार वह भारतीय जनता पार्टी से अलग भी हो गए। भारतीय जनता पार्टी से अलग होने के बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी से नजदीकी नहीं बनाई।

हनुमान बेनीवाल ने चाटुकार नेताओं को दिखायी औकात, कहा- हनुमान किसी को सैल्यूट नहीं मारताहनुमान बेनीवाल

राजस्थान की राजनीति में हमेशा बीजेपी-कांग्रेस के अलावा किसी भी पार्टी को सियासी कामयाबी नहीं मिली है। राजस्थान में भले ही बहुजन समाज पार्टी, समाजवाजी पार्टी और माकपा जैसी राजनीतिक पार्टियां अपना अस्तित्व रखती हैं लेकिन हनुमान बेनीवाल के नेतृत्व में आरएलपी (राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी) अपनी मजबूती दर्ज कराने में कामयाब होती जा रही है। पार्टी का तेजी से विस्तार हो रहा है।

आरएलपी (राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी) के तेजी से विस्तार होने पर पार्टी के कार्यकर्ता में नया जोश देखने को मिल रहा है। ऐसे में कुलदीप सिंह चौधरी ने ट्वीट कर वीडियो शेयर किया है। जिसमें हनुमान बेनिवाल कहते हैं कि हनुमान हनुमान है। मेरा कोई नेता नहीं किसी की कप प्लेट नहीं उठता। मेरी ज्यादा किसी से नहीं बनती। इसी लिए नई पार्टी बनाई खुद आला कमान हूं।

जब बीजेपी से अलग हुए बेनीवाल

हनुमान बेनीवाल साल 2008 में भारतीय जनता पार्टी से भले चुनाव जीते थे लेकिन उन्होंने वसुंधरा राजे का विरोध बंद नहीं किया था। आखिरकार वह भारतीय जनता पार्टी से अलग भी हो गए। भारतीय जनता पार्टी से अलग होने के बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी से नजदीकीन नहींबनाई।

वह भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों का विरोध करते रहे। साल 2013 के चुनाव में मोदी लहर में भाजपा ने 200 में से 163 सीटें जीती थी। लेकिन खींवसर से हनुमान बेनीवाल निर्दलीय चुनाव लड़े और जीत हासिल की।

साल 2018 में राज्य विधानसभा चुनाव से एक महीने पहले हनुमान बेनीवाल ने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के नाम से नई पार्टी बनाई और चुनाव में 60 उम्मीदवार उतारे। लेकिन वह तीन सीटों पर जीतनें में कामयाब हो पाए थे।

Next Story
Share it
Top