Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीन तलाक कानून के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन, शरियत से साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं

मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड की सदस्य यास्मीन फारूखी ने प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शरीयत के साथ दखलअंदाजी बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

तीन तलाक कानून के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन, शरियत से साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं
X

राजस्थान के सीकर में तीन तलाक कानून के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं ने मौन जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन किया।

जुलूस के बाद एक प्रतिनिधि मंडल ने अतिरिक्त जिला कलेक्टर जयप्रकाश चौधरी से मुलाकात कर उन्हें प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन दिया, जिसमें शरीयत के कानून को बरकरार रखने और विधेयक को वापस लेने की मांग की गई है।

इसे भी पढ़ें- दीदी के बदले तेवर: विपक्ष को घेरने सोनिया की डिनर पार्टी में शामिल नहीं होगी ममता बनर्जी

ईदगाह चौक से कलेक्टर कार्यालय तक निकाले गये मौन जुलूस में बडी संख्या में बुरका पहने मुस्लिम महिलाओं ने तीन तलाक कानून को वापस लेने और शरियत में दखल नहीं देने संबंधी स्लोगन लिखी तख्तियां और बैनर ले रखे थे।

ईश्वर ने बनाए कानून

मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड की सदस्य यास्मीन फारूखी ने प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शरीयत के साथ दखलअंदाजी बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान महिलाओं ने एक स्वर में कहा कि ईश्वर के बनाये शरियत कानून में दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

इसे भी पढ़ें- 'अखिलेश के नरेश' भाजपा में शामिल, सपा को जया का प्रेम पड़ा भारी

विधेयक वापस लेने की मांग

प्रदर्शनकारी महिलाओं ने प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन में शरीयत के कानून को बरकरार रखने और विधेयक को वापस लेने की मांग की गई।

जुलूस के दौरान नगर परिषद के सभापति जीवन खान सहित कई जनप्रतिनिधियों और गणमान्य लोग भी मौजूद रहे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story