Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बेटी ने मां की दूसरी शादी करवाकर पेश की मिसाल, सोशल साइट पर तेजी से वायरल हो रही पोस्ट

जयपुर में एक बेटी ने अपनी विधवा मां की दूसरी शादी करवाकर समाज में एक नई मिसाल पेश की है।

बेटी ने मां की दूसरी शादी करवाकर पेश की मिसाल, सोशल साइट पर तेजी से वायरल हो रही पोस्ट
X

जयपुर में एक बेटी ने अपनी विधवा मां की दूसरी शादी करवाकर समाज में एक नई मिसाल पेश की है। 25 वर्षीय इस लड़की ने सवाल-जवाब से जुड़ी एक ब्लॉगिंग साइट पर अपना एक्सपीरियंस और फंक्शन की फोटोज शेयर की है। इस लड़की के इस साहस की कहानी अबतक 3 लाख बार पढ़ी जा चुकी है।

डिप्रेशन में चली गई थीं मां

जयपुर में रहने वाली संहिता अग्रवाल के 52 वर्षीय पिता मुकेश गुप्ता की 13 मई 2016 को अचानक साइलेंट अटैक पड़ने से मौत हो गई थी। संहिता के अनुसार, ये मां के लिए एक बड़ा सदमा था क्योंकि मेरे पिता बिल्कुल भी बीमार नहीं थे। किसी ने नहीं सोचा था कि ऐसा कुछ हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- Gallup International Survey: ट्रंप-शी चिनफिंग को पछाड़ पीएम मोदी बने दुनिया के तीसरे सबसे लोकप्रिय नेता

पिता की मौत के बाद मां गीता अग्रवाल डिप्रेशन में चली गईं थी। बड़ी बेटी की शादी हो जाने पर घर में सिर्फ छोटी बेटी और मां ही बचीं थी। संहिता के मुताबिक, पिता के निधन के 6 महीने बाद भी कुछ नहीं बदला था।

संहिता कहती हैं कि मुझे आज भी वो दिन याद है, जब मैं ऑफिस से वापस आती थी तो मेरी मां गम में घर के बाहर सीढ़ियों पर बैठी मिलती थीं। मां अक्सर नींद में चिल्लाकर और अचानक मुझे जगाते हुए पूछती थीं कि पापा कहां हैं?

जब मेरी जॉब गुड़गांव में लग गई तो घर में मां अकेले रह गई। अपने अकेलेपन को दूर करने के लिए मां अक्सर रात में टीवी चलाकर सो जाती थी।

मैट्रिमोनियल साइट पर ढूढ़ा रिश्ता

गमजदा मां का अकेलापन बेटी से देखा नहीं गया इसलिए संहिता ने 2016 में एक मैट्रिमोनियल साइट पर जाकर मां को बिना बताए उनकी प्रोफाइल बना दी। जिसके बाद उनके लिए रिश्ते आना शुरू हो गए।

इन्हीं रिश्तों में से एक 55 साल के गोपाल गुप्ता शादी के लिए तैयार हुए। लेकिन संहिता ने जब यह बात मां को बताई तो उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया। गोपाल गुप्ता बांसवाड़ा में रेवेन्यू अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। उनकी पत्नी 7 साल पहले कैंसर से मर चुकी थीं। इसके बाद से ही वो भी अकेले रह गए थे।

ऐसे आगे बढ़ी रिश्ते की बात

इसी दौरान संहिता की मां गीता का यूट्रस का मेजर ऑपरेशन हुआ। जब इस बात की खबर गोपाल को लगी तो वो रिश्ता तय न होने के बावजूद भी हॉस्पिटल में गीता की तीमारदारी करने पहुंच गए। इसी बात से गीता भी प्रभावित हो गईं और दोनों ने विवाह बंधन बंधने का फैसला ले लिया।

यह भी पढ़ें- रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने की किम जोंग की जमकर तारीफ, कहा- तानाशाह समझदार और परिपक्व नेता

रिश्तेदारों का विरोध

गीता की इस उम्र में दोबारा शादी की बात सुनकर परिजन और रिश्तेदारों ने फैसले का विरोध भी किया। साथ ही वो शादी में भी शरीक नहीं हुए। लेकिन इन दोनों ने अपने चुनिंदा रिश्ते-नातेदारों की मौजूदगी में आर्य समाज मंदिर में शादी कर अपने नए वैवाहिक जीवन की शुरुआत कर दी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story