Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजस्थान समाचार : गुर्जर आंदोलन पर सीएम गहलोत ने बुलाई बैठक, आज हो सकता है बड़ा ऐलान

जयपुर-बयाना-धौलपुर की बसें भी बंद कर दी गई हैं। इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आंदोलन को लेकर बैठक बुलाई। इस बैठक में गुर्जर समाज से जुड़े मंत्रियों और विधायकों को बुलाया गया। बैठक के बाद मंत्री अशोक चांदना ने कहा- बैठक में जो फैसला हुआ, उससे गुर्जर समाज को बड़ा फायदा होगा। माना जा रहा है कि बुधवार को राज्य सरकार विधानसभा में बड़ा ऐलान कर सकती है।

राजस्थान समाचार : गुर्जर आंदोलन पर सीएम गहलोत ने बुलाई बैठक, आज हो सकता है बड़ा ऐलान
X

सवाई माधोपुर के मलारना डूंगर में चार दिन पहले आरक्षण की मांग को लेकर रेल ट्रैक से शुरू हुआ गुर्जरों का आंदोलन अब सीकर, दौसा, झुंझुनूं, बूंदी और टोंक तक फैल गया है। गुर्जर नेताओं ने कहा मांग स्वीकार न होने तक आंदोलन जारी रहेगा। जयपुर-बयाना-धौलपुर की बसें भी बंद कर दी गई हैं। इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आंदोलन को लेकर बैठक बुलाई। इस बैठक में गुर्जर समाज से जुड़े मंत्रियों और विधायकों को बुलाया गया। बैठक के बाद मंत्री अशोक चांदना ने कहा- बैठक में जो फैसला हुआ, उससे गुर्जर समाज को बड़ा फायदा होगा। माना जा रहा है कि बुधवार को राज्य सरकार विधानसभा में बड़ा ऐलान कर सकती है।

मुख्यमंत्री ने बैठक की

सोमवार रात 12 बजे मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक समेत आला अफसरों की बैठक ली। इसमें गुर्जर आंदोलन की रोकथाम और समाधान पर चर्चा की गई। बैठक रात एक बजे तक चली। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को भी अधिकारियों से चर्चा करेंगे।

मानवाधिकार आयोग भी आगे आया

राज्य मानवाधिकार आयोग ने आंदोलन पर चिंता जताते हुए कहा कि आमजन में भय का माहौल है। सरकार रेल और सड़क मार्ग खुलवाने के लिए उचित कार्रवाई करे। सरकार बताए कि वर्तमान में आंदोलन में शामिल लोगों पर कितने केस दर्ज हैं। इनमें से कितनों पर दंडात्मक कार्रवाई हुई। यह भी बताए कि वापस लिए गए केस दोबारा शुरू करने के लिए कोई कानून है या नहीं। गुर्जर आंदोलन के तहत 13 साल में 755 केस दर्ज किए गए। इनमें से 233 सरकार ने वापस ले लिए, जबकि 162 में पुलिस ने एफआर लगा दी। इन प्रकरणों में 8850 लोगों को आरोपी बनाया गया।

आंदोलन तेज करने की चेतावनी

गुर्जर आरक्षण आंदोलन संघर्ष समिति के प्रदेश उपाध्यक्ष भूरा भगत ने कहा सरकार का प्रतिनिधिमंडल सकारात्मक जवाब देने की बात कह कर गया था, लेकिन अब तक कोई संदेश नहीं आया। ऐसे में अब गुर्जर समाज को अपना आंदोलन तेज करना होगा। इस बीच सरकार ने सरकार ने पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा और सामाजिक न्याय विभाग मंत्री भंवरलाल मेघवाल की कमेटी बनाई है। यह कमेटी आंदोलनकर्ताओं के विभिन्न गुटों से समन्वय करके आंदोलन को खत्म करने का प्रयास कर रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story