Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विधानसभा चुनाव 2018: पासवान की पार्टी ने राजस्थान में भाजपा से मांगी 15 सीटें

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 मे लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबन्धन (राजग) के घटक के रुप में लड़ना चाहती है और उसने भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन में 15 सीटों पर दावेदारी की है।

विधानसभा चुनाव 2018: पासवान की पार्टी ने राजस्थान में भाजपा से मांगी 15 सीटें
X

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 मे लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबन्धन (राजग) के घटक के रुप में लड़ना चाहती है और उसने भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन में 15 सीटों पर दावेदारी की है।

प्रदेश लोजपा अध्यक्ष सूरज कुमार बुराहड़िया ने गुरूवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी राजग के घटक के रुप में भाजपा के साथ गठबंधन में विधानसभा चुनाव लड़ना चाहती है।

लोजपा पदाधिकारी हाल ही में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन सैनी से मिले थे और 15 सीटों पर पार्टी के प्रत्याशी उतारने की मांग की थी।

इसे भी पढ़ें- विधानसभा चुनाव 2018: भाजपा CEC की बैठक, मध्य प्रदेश और राजस्थान के उम्मीदवारों पर होगा मंथन

उन्होंने बताया कि 15 सीटों की पार्टी की मांग पर भाजपा से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है लेकिन सैनी ने केन्द्रीय नेतृत्व का हवाला देते हुए उन्हें आश्वस्त किया है।

उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिये पार्टी अलवर ग्रामीण, उदयपुरवाटी, झुंझुनूं, वैर, मालपुरा, निवाई, टोंक हिंडौन सहित प्रदेश की 15 सीटों पर फोकस कर रही है।

इस संबंध में उन्होंने लोजपा प्रमुख एवं केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान से भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से बातचीत करने का आग्रह किया है और संभवतया दीपावली से पहले कोई निर्णय हो जायेगा।

इसे भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018: हरिभूमि की लिस्ट पर लगी मुहर, कांग्रेस ने जारी की 19 उम्मीदवारों की सूची

बुराहडिया ने कहा कि यदि भाजपा के साथ सहमति नहीं बनती है तो लोजपा राजस्थान में सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में स्वतंत्र रूप से अपने प्रत्याशी उतारेगी। विधानसभा चुनाव 2018 को लेकर लोजपा ने पूरी तरह कमर कस ली है।

उन्होंने बताया कि लोक जनशक्ति के सुप्रीमों व केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम को संसद में पुनः अध्यादेश के माध्यम से लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई उसके सार्थक परिणाम चुनाव में देखने को मिलेंगे।

दलित सेना के प्रदेशाध्यक्ष महेन्द्र कुमार ओझा ने कहा कि अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के लोग हमेशा से ही चुनावों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story