Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Punjab : मासूम फतेहवीर को 5 दिन बाद बोरवेल से निकाला, डॉक्टरों ने किया मृत घोषित

पंजाब के संगरुर में करीब डेढ़ सौ फीट गहरे बोरवेल में गिरे दो साल के बच्चे फतेहवीर को प्रशासन ने 5 दिन बाद निकाल लिया है। बच्चे को निकालने के बाद चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Punjab : मासूम फतेहवीर को 5 दिन बाद बोरवेल से निकाला, डॉक्टरों ने किया मृत घोषित

संगरुर में करीब डेढ़ सौ फीट गहरे बोरवेल में गिरे दो साल के बच्चे फतेहवीर को प्रशासन ने 5 दिन बाद निकाल लिया है। बच्चे को निकालने के बाद चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

फतेहवीर की मौत की खबर सुनते ही लोग अस्पताल के बाहर प्रदर्शन करने लगे। मालूम हो कि भगवानपुरा गांव के पास ही सूखे पड़े बोरवेल में फतेहवीर गुरूवार की शाम को ही गिर गया था जिसे पांच दिनों बाद मृत अवस्था में निकाला गया।

बच्चे की मौत पर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि मासूम फतेहवीर की दुखद मौत के बारे में सुनकर बहुत दुख होता है। मैं वाहेगुरु से इस भारी नुकसान को सहन करने के लिए और उनके परिवार की ताकत को बढ़ाने की प्रार्थना करता हूं। मैनें सभी डीसी से किसी भी खुले बोरवेल के बारे में रिपोर्ट मांगी है, ताकि इस तरह के भयानक हादसे से बचा जा सकें।

जानकारी के मुताबिक बोरवेल एक कपड़े से ढंका हुआ था जिसके पास फतेहवीर खेलते-खेलते हुए जा पहुंचा और बोरवेल में गिर गया। फतेहवीर की मां ने अपने एकलौते लाडले को बचाने के लिए बहुत कोशिश की लेकिन नहीं बचा सकी। प्रशासन के मुताबिक बचाव दल रविवार को बच्चे के पास तक पहुंच गया था लेकिन उसे निकालने में कामयाबी न मिल सकी। बताया जा रहा है कि कुछ तकनीकी खराबी आ गई थी।

बोरवेल में ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ा दी गई थी जिससे कि उसे सांस लेेने में कोई परेशानी न हो, इसके अलावा उस पर नजर रखने के लिए एक कैमरा भी लगाया गया था। बोरवेल के पास २४ घंटे डॉक्टरों की टीम व एंबुलेंस तैनात थे। घटना के ४० घंटे बाद बच्चे के शरीर में थोड़ी-बहुत हलचल देखी गई। फतेहवीर की माता व पिता ने ख्वाजा पीर के दर पर मन्नत भी मांगे लेकिन नन्हा फतेहवीर जिंदगी इस जंग को फतह नहीं कर पाया।

Share it
Top