Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sukhna Catchment Area Verdict: हाईकोर्ट ने दिया मंत्रियों, विधायकों और IAS अफसरों के घर तोड़ने का आदेश

Sukhna Catchment Area Verdict: हाईकोर्ट के फैसले के अनुसार विधायक कंवर सिंह संधू के साथ साथ पंजाब के पूर्व मंत्री सिकंदर सिंह मलूका और कई आईएएस आईपीएस अधिकारियों के घरों को भी तोड़ा जाएगा।

Sukhna Catchment Area Verdict: हाईकोर्ट ने दिया मंत्रियों, विधायकों और IAS अफसरों के घर तोड़ने का आदेश
X
Sukhna Catchment Area Verdict

Sukhna Catchment Area Verdict : पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने कैचमेंट एरिया तय करने के बाद बने सभी मकानों को तोड़ने का आदेश दिया है। जिसका अन्तर्गत कई विधायकों, आईएएस अधिकारियों और मंत्रियों के घरों को तोड़ा जाएगा।

ये है मामला

रिपोर्ट के अनुसार 21 सितंबर 2004 के सर्वे ऑफ इंडिया के नक्शे में जिन जिन जगहों को कैचमेंट एरिया बताया गया है। उसके बाद बने सभी घरों को हाईकोर्ट ने तोड़ने के आदेश दिए हैं। इस नक्शे में बताया गया है कि सुखना एन्क्लेव और कांसल में अधिकतर घर इसके बाद ही बनाए गए हैं। बता दें कि कांसल गांव की सुखना एन्क्लेव सोसायटी में विधायक कंवर सिंह संधू के साथ साथ पंजाब के पूर्व मंत्री सिकंदर सिंह मलूका और कई आइएएस आईपीएस अधिकारी रहते हैं। इस अनुसार इन मंत्रियों, विधायकों और आईएएस अधिकारियों के घरों को तोड़ा जाएगा। बता दें कि ऐसा पहली बार होगा जब इन बड़े बड़े अफसरों और मंत्रियों के घरों को तोड़ा जाएगा।

पंजाब सरकार शुरू से ही कर रही है दायरा घटाने की मांग

पंजाब सरकार शुरू से ही सुखना वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी के दायरे को कम करने की मांग कर रही है। जिस दायरे को केंद्र सरकार ने एक किमी रखने को कहा है, उसे पंजाब सरकार 100 मीटर करने की मांग कर रही थी। लेकिन केंद्र सरकार ने पंजाब सरकार की मांग को खारिज कर दिया था।

क्यों की जा रही थी दायरा घटाने की मांग

पंजाब सरकार दायरा घटाने की मांग इसलिए कर रही थी क्योंकि अगर दायरा बढ़ा तो कांसल का एक बड़ा आवासीय एरिया इसमें आ जाता। जिससे घरों को तोड़ना पड़ता।

हरियाणा के सकेतड़ी पर पड़ेगा असर

हाईकोर्ट के इस फैसले का असर हरियाणा के सकेतड़ी पर भी पड़ेगा। जिसके अन्तर्गत सौ से ज्यादा घर इस दायरे में आ जाएंगे और उन्हें तोड़ना पड़ेगा। साथ ही पंचकूला का सेक्टर एक भी इस दायरे में हैं और नयागांव के मास्टर प्लान को रद्द करने से भी सैकड़ों घर गिर जाएंगे।

Next Story