Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''नानक शाह फकीर'' रिलीज, पंजाब और हरियाणा में सिख समूहों का प्रदर्शन

पंजाब और हरियाणा के सिख समूहों ने आज विवादित फिल्म ''नानक शाह फकीर'' के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस फिल्म की कहानी सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव के जीवन और उनके उपदेशों पर आधारित है।

पंजाब और हरियाणा के सिख समूहों ने आज विवादित फिल्म 'नानक शाह फकीर' के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस फिल्म की कहानी सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव के जीवन और उनके उपदेशों पर आधारित है। यह फिल्म आज रिलीज हुई है।

रेलवे अधिकारियों ने बताया है कि पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में प्रदर्शनकारियों ने एक मालगाड़ी को करीब 20 मिनट तक रोके रखा। सरकारी रेलवे पुलिस ( जीआरपी ) और स्थानीय पुलिस के हस्तक्षेप के बाद प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन को आगे जाने दिया।

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि सिख धर्म की शीर्ष संस्था अकाल तख्त ने पहले ही समुदाय के लोगों से इस फिल्म का बहिष्कार करने और शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की है। उन्होंने बताया कि विरोध प्रदर्शन किसी को परेशान करने के लिए नहीं है।

यह भी पढ़ें- उन्नाव-कठुआ रेप केस: तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी और अमित शाह पर लगाया ये बड़ा आरोप

शीर्ष संस्था अकाल तख्त ने ‘ नानक शाह फकीर ' फिल्म पर यह कहते हुए प्रतिबंध लगा दिया था कि गुरू को जीवित रूप में दिखाने की अनुमति किसी को नहीं है। इस फिल्म की रिलीज के विरोध में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ( एसजीपीसी ) द्वारा चलने वाले शैक्षणिक संस्थान बंद रहे।

जालंधर में भी सिख समुदाय द्वारा विरोध प्रदर्शन करने की खबरें आई है। यहां प्रदर्शनकारियों ने फिल्म के प्रोड्यूसर हरिंदर सिक्का का पुतला जलाया। फिरोजपुर में भी फिल्म की रिलीज के खिलाफ प्रदर्शन हुआ। हरियाणा में सिख समूहों ने सिरसा , करनाल , यमुनानगर और कुरुक्षेत्र में विरोध प्रदर्शन किया।

तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने सिक्का को सिख पंथ से बहिष्कृत करने के फैसले की कल घोषणा की थी। उच्चतम न्यायालय ने 10 अप्रैल को अपने आदेश में देश भर में 13 अप्रैल को इस फिल्म को रिलीज करने का रास्ता साफ कर दिया था और इस फिल्म पर लगे प्रतिबंध की आलोचना की थी।

यह भी पढ़ें- राहुल गांधी ने पीएम मोदी से पूछे दो सवाल, कहा- इन सवालों के जवाब के लिए भारत कर रहा इंतजार

साल 2015 में सिख धर्म के विभिन्न समूहों द्वारा इस फिल्म का दुनिया भर में विरोध किए जाने के बाद इस फिल्म के प्रोड्यूसरों ने इसे सिनेमा हॉल से हटाने का फैसला किया था।

इनपुट भाषा

Share it
Top