Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पंजाब पुलिस ने अमृतसर में ग्रेनेड हमला मामले में की दूसरी गिरफ्तारी

पंजाब पुलिस ने अमृतसर के निरंकारी भवन में धार्मिक सभा पर ग्रेनेड फेंकने वाले कथित व्यक्ति को पकड़ने का शनिवार को दावा किया। यह इस मामले में दूसरी गिरफ्तारी है। बीते रविवार को निरंकारी भवन में धार्मिक सभा में फेंके गए ग्रेनेड में तीन लोगों की मौत हो गई थी।

पंजाब पुलिस ने अमृतसर में ग्रेनेड हमला मामले में की दूसरी गिरफ्तारी

पंजाब पुलिस ने अमृतसर के निरंकारी भवन में धार्मिक सभा पर ग्रेनेड फेंकने वाले कथित व्यक्ति को पकड़ने का शनिवार को दावा किया। यह इस मामले में दूसरी गिरफ्तारी है। बीते रविवार को निरंकारी भवन में धार्मिक सभा में फेंके गए ग्रेनेड में तीन लोगों की मौत हो गई थी।

पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने यहां पत्रकारों से कहा कि आरोपी की पहचान अवतार सिंह के तौर पर हुई है। उसके पास से एक .32 बोर की पिस्तौल, अमेरिका में बनी पिस्तौल, चार मैगज़ीन और 25 कारतूस बरामद किए गए हैं।
डीजीपी ने बताया, 'अवतार सिंह को (अमृतसर में) लोपोके थाना क्षेत्र के ख्याला गांव से गिरफ्तार किया गया है।' उन्होंने कहा, 'हम उसे अदालत में पेश करेंगे और उसे पुलिस हिरासत में भेजने की मांग करेंगे।'
धार्मिक सभा में बाइक सवार दो व्यक्तियों ने ग्रेनेड फेंका था जिसमें एक उपदेश समेत तीन लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने इसे 'आतंकी करतूत' बताया था। पुलिस, आतंकवादी संगठन खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (केएलएफ) के सदस्य बिक्रमजीत सिंह को गिरफ्तार कर चुकी है। वह उस दिन कथित रूप से बाइक चला रहा था।
यह आरोप है कि अवतार सिंह ने ग्रेनेड फेंका था। अवतार सिंह अमृतसर के लोपोके (अंजाला) के चाक मिश्री खान गांव का निवासी है।
अरोड़ा ने कहा कि शुरुआती जांच में सामने आया था कि जावेद नाम का पाकिस्तान व्यक्ति आरोपियों को 'आतंकी करतूत' करने के लिए गुमराह करने में कथित रूप से शामिल है। पुलिस ने कहा कि जांच में इटली में रहने वाले एक व्यक्ति का नाम भी सामने है जिसकी पहचान परमजीत सिंह बाबा के तौर पर हुई है।
आरोपियों के परिवार ने दावा किया है कि उन्हें फंसाया गया है जिस पर डीजीपी ने कहा, 'हमारे पास उनके खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं।'
उन्होंने कहा, 'हम फंसाने में यकीन नहीं रखते हैं। हमने ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हथियार बरामद किए हैं।'
Share it
Top