Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नशा बना काल : अफीम से बनाई जाने वाली दर्द निवारक मर्फिन ले रही युवाओं की जान

कभी दर्दनिवारक दवा के लिए बनी मर्फिन अब युवाओं के नशे की तलब को समाप्त करने के लिए बन गई है। और ये तलब उनकी मौत के बाद ही समाप्त हो पाती है। पिछले दो साल में इस दवा को लेकर जो आंकड़े आए हैं वह बेहद भयानक हैं।

नशे बना काल : अफीम से बनाई जाने वाली दर्द निवारक मर्फिन ले रही युवाओं की जान
X
Punjab life of youth consuming Poppy based pain reliever morphine

कभी दर्दनिवारक दवा के लिए बनी मर्फिन अब युवाओं के नशे की तलब को समाप्त करने के लिए बन गई है। और ये तलब उनकी मौत के बाद ही समाप्त हो पाती है। पिछले दो साल में इस दवा को लेकर जो आंकड़े आए हैं वह बेहद भयानक हैं। पंजाब में सरकार ने इस दवा की फोंरेंसिक लैंब मे जांच करवाने का फैसला किया था।

रिपोर्ट में जो आंकड़े सामने हैं उसने सबको सोचने पर मजबूर कर दिया। पिछले दो साल में जांच के लिए 134 लोगों के विसरा की जांच की गई। इन लोगों के विसरे की जांच में 78 ऐसे मामले आए जिसमें नशे के ओवरडोज के थे। इनमें से ज्यादातर मौते मार्फिन के ओवरडोज से हुई है।

राज्य में अफीम से बनाई जाने वाली इस दवा का प्रयोग दर्द कम करने के लिए कम नशे के लिए ज्यादा होने लगा। पंजाब के बाजारों में मार्फिन पाउडर की शक्ल में भी आ गया। इसकी कीमत 4 से 5 हजार रुपए प्रति ग्राम है।

नशा करने वाले युवाओं को जब ये ज्यादा लगा तो वह मार्फिन के इंजेक्शन पर शिफ्ट हो गए। 500 से 700 रुपए में आने वाला ये इंजेक्शन युवाओं की पहली पसंद बन गया। इसकी लत ऐसी लगी कि फिर छूटी ही नहीं, और बाद में मौत का कारण बनी।

पंजाब सरकार द्वारा जारी इस लैब रिपोर्ट में सबसे ज्यादा 23 मामले अमृतसर से आए हैं। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री कहते हैं कि पिछले कुछ सालों में नशे से मरने वाले लोगो की संख्या में कमी आई है।

सरकार जागरुकता अभियान चलाकर प्रदेश के युवाओं में लगी नशे की लत को छुड़ाने में लगी है। प्रदेश के हर हिस्सों में विशेष कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। लेकिन इसका बहुत व्यापक असर नहीं दिख रहा, इसी कारण नशे के नए केस सामने आ रहे हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story