Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

9 साल के बच्चे की मां 'शालिजा धामी' दुश्मनों के छुड़ाएंगी छक्के, रचा इतिहास

इंडियन एयर फोर्स (Indian Air Force) की विंग कमांडर शालिजा धामी (Shaliza Dhami) ने फ्लाइंग यूनिट की पहली महिला फ्लाइट कमांडर बनने का कीर्तिमान बनाया है।

9 साल के बच्चे की मां शालिजा धामी दुश्मनों के छुड़ाएंगी छक्के, रचा इतिहास
X

इंडियन एयर फोर्स (Indian Air Force) की विंग कमांडर शालिजा धामी (Shaliza Dhami) ने फ्लाइंग यूनिट की पहली महिला फ्लाइट कमांडर बनने का कीर्तिमान बनाया है। इसी के साथ विंग कमांडर शालिजा धामी देश की पहली ऐसी महिला वायुसेना अधिकारी बन गई हैं। महिला फ्लाइट कमांडर धामी ने हिंडन एयर बेस में चेतक हेलिकॉप्टर यूनिट के फ्लाइट कमांडर का पदभार संभाल लिया है।

पायलट बनने की थी ख्वाहिश

शालिजा धामी हाई स्कूल के दिनों से ही पायलट बनने की ख्बाहिश रखती थी। पंजाब के लुधियाना में पली-बढ़ी शालिजा धामी इन दिनों करियर में ऊंचाइयां छू रहीं। धामी पिछले 15 सालों से इंडियन एयर फोर्स को अपनी सेवाएं दे रही हैं, इस दौरान वह चेतक और चीता हेलीकॉप्टरों भी उड़ाती रहीं।

धामी चेतक और चीता हेलीकॉप्टरों के लिए इंडियन एयर फोर्स की पहली महिला काबिल फ्लाइंग इंस्ट्रक्टर भी हैं। इस जिम्मेदारी के साथ धामी के ऊपर एक और जिम्मेदारी है। धामी 9 साल के बच्चे की मां भी हैं।


एआईआर में 1994 में महिलाओं को किया गया शामिल

जानकारी के लिए आपको बता दें कि देश में पहली बार 1994 में महिलाओं को इंडियन एयर फोर्स में शामिल किया गया था। महिलाओं को शुरुआत में नॉन-कॉम्बैट का रोल दिया गया था। महिलाओं ने अपने संघर्ष कॉम्बैट रोल्स भी हासिल कर लिए हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story