Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मानव तस्करी मामले में दलेर मेहंदी को जेल से पहले मिली बेल, जानें पूरा मामला

मशहूर पॉप सिंगर दलेर मेहंदी को पंजाब के पटियाला कोर्ट ने मानव तस्करी मामले में दोषी करार दिया है।

मानव तस्करी मामले में दलेर मेहंदी को जेल से पहले मिली बेल, जानें पूरा मामला

दलेर मेहंदी को साल 2003 के मानव तस्करी मामले में पटियाला कोर्ट ने दोषी करार देते हुए उन्हें 2 साल की सजा सुनाई है। दलेर मेहंदी ने मानव तस्करी मामले पर बोलते हुए मीडिया से कहा है कि उन्हें बेल मिल चुकी है और वह सुप्रीम कोर्ट में अपील करेंगे।

मशहूर पॉप सिंगर दलेर मेहंदी को पंजाब की पटियाला कोर्ट ने मानव तस्करी मामले में दोषी करार दिया है। अदालत ने उन्हें दो साल की सजा सुनाई है। बता दें कि दलेर पर चल रहा ये मामला साल 2003 का है, जिस पर 15 साल बाद ये फैसला आया है।

इसे भी पढ़े- केजरीवाल की माफी से नाराज हुए पार्टी नेता, चंडीगढ़ में विरोध मीटिंग

पंजाब की पटियाला अदालत ने दलेर को आपराधिक साजिश में दोषी करार दिया गया है। दलेर महंदी पर लोगों को गैरकानूनी रूप से विदेश भेजने का आरोप है। गौरतलब है कि दलेर के खिलाफ इस संबंध में कुल 31 मामले पाए गए थे।

जानें पूरा मामला

मशहूर सिंगर दलेर मेहंदी पर गैरकानूनी तरीके से लोगों को विदेश भेजे जाने के चलते साल 2003 में मामला दर्ज किया गया था। दलेर और उनके भाई शमशेर सिंह पर आरोप था कि उन्होंने कुछ लोगों को अपनी मंडली का सदस्य बताकर गैरकानूनी तरीके से विदेश भेजा था जिसके बदले में उनसे अच्छी खासी रकम वसूली थी।
मेहंदी भाइयों पर आरोप है कि उन्होंने अमेरिका में एक शो के नाम पर अपने साथियों की दो मंडलियों के साथ 10 लोगों को गैर कानूनी तरीके से वहां छोड़ दिया था। ये पहली और आखरी बार नहीं था इसी प्रकार एक अभिनेत्री के साथ अमेरिकी यात्रा पर गए दलेर ने कथित तौर पर तीन लड़कियों को सैन फ्रांसिस्को छोड़ दिया था।
दोनों भाइयों एक बार फिर कुछ अभिनेताओं के साथ शो के लिए अमेरिका गए थे और इस दौरान तीन लड़कों को न्यू जर्सी में छोड़ दिया गया था।
बख्शीश सिंह नाम के शख्स की शिकायत के आधार पर पटियाला पुलिस के दलेर और उनके भाई शमशेर के खिलाफ मामला दर्ज करते ही दलेर बंधुओं के खिलाफ धोखाधड़ी की और 35 शिकायतें दर्ज की थी।
दलेर बंधुओं के खिलाफ शिकायतों में कहा गया था कि दलेर बंधुओं ने उनसे गैरकानूनी तरीके से अमेरिका ले जाने के लिए भारी भरकम रकम वसूली थी लेकिन रकम लेने के बाद उन्हें नहीं ले जाया गया।
Share it
Top