Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डॉक्टर की इस हरकत से 5 साल के बच्चे को 2 बार आया हार्ट अटैक, कोमा में पहुंचा

फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन अमेरिका ने 2011 में चेतावनी दी थी कि इस दवा को 4 साल से छोटे बच्चे को न दिया जाए। साथ ही बीपी, डायबिटीज और गर्भवती महिला के लिए भी इस दवा को उपयोग में लाने से मना किया गया था।

डॉक्टर ने 5 साल के बच्चे को दी गलत दवा, दो बार हार्टअटैक के बाद कोमा में पहुंचा बच्चा
X
डॉक्टर ने 5 साल के बच्चे को दी गलत दवा

पटियाला के एक डॉक्टर ने एक पांच साल के बच्चे को गलत दवा दे दी। जिसके बाद बच्चे को उल्टियां होने लगी। इलाज के दौरान उसे दो बार हार्ट अटैक आया और अंत में वो कोमा में पहुंच गया। इस वक्त वो जिंदगी और मौत के बीच अपनी लड़ाई लड़ रहा है।

क्या है पूरा मामला

पीड़ित बच्चे सर्बजीत सिंह के पिता अवतार सिंह ने बताया कि 6 फरवरी को बच्चे को हल्की खांसी और जुकाम होने के बाद उसे गांव के एक प्राइवेट डॉक्टर से दिखवाया गया। जिसका नाम गर्जा सिंह है। डॉक्टर ने उसे कफ सिरप और कुछ गोलियां दी। जिसके बाद बच्चे को उल्टियां होने लगी। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया। वहां से पता लगा कि बच्चे के लिवर और किडनी में इन्फेक्शन हो गया है। साथ ही टायफाइड के साथ उसके सैल भी कम हो गए हैं। इलाज के दौरान उसे दो बार हार्ट अटैक आ गया और अब वो कोमा में अपनी जिंदगी से लड़ रहा है।

दी गई थी ये दवा

राजपुरा के चाइल्ड एक्सपर्ट डॉ संदीप के अनुसार बच्चे को कोल्ड बेस्ट - पीसी नामक कफ सीरप दिया गया था। जो छोटे बच्चों के लिए नुकसानदेह है। जिसके कारण खून में एसिड की मात्रा बढ़ने से इन्फेक्शन हो जाता है। डॉ संदीप ने बताया कि इस दवा को बैन किया जा चुका है।

फूड एंड ड्रग एडमिस्ट्रेशन अमेरिका द्वारा दी गई थी चेतावनी

चाइल्ड एक्सपर्ट डॉक्टर हर्शिंदर कौर ने बताया कि फूड एंड ड्रग एडमिस्ट्रेशन अमेरिका ने 2011 में चेतावनी दी थी कि इस दवा को 4 साल से छोटे बच्चे को न दिया जाए। साथ ही बीपी, डायबिटीज और गर्भवती महिला के लिए भी इस दवा को उपयोग में लाने से मना किया गया था। बता दें इस दवाई से हिमाचल और जम्मू में भी बच्चों की जान जा चुकी है।

पुलिस कर रही है जांच

पंजाब पुलिस ने आरोपी डॉक्टर गर्जा सिंह और उसके बेटे कुलविंदर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। दोनो इस समय फरार हैं। लेकिन पुलिस ने आश्वासन दिया है कि उन्हें जल्द से जल्द पकड़ कर कार्रवाई की जाएगी।

Next Story