Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Budget 2019 Punjab : पंजाब को बजट से ये है उम्मीद, जानें व्यापारियों और किसानों ने क्या कहा

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण कुछ ही देर में आम बजट 2019 पेश करेंगी। मोदी सरकार-2 से पंजाब को बड़ी उम्मीदें हैं। मोदी सरकार-1 में पंजाब के हिस्से में ज्यादा कुछ नहीं आया था। इसलिए सरकार से पंजाब की उम्मीदें बढ़ गई हैं। व्यापारी बदीश जिंदल कहते हैं कि अंतरिम बजट में सरकार ने टैक्स की छूट सीमा 5 लाख करने का ऐलान किया था। उसी पर सरकार को कायम रहना चाहिए।

Budget 2019 Punjab : पंजाब को बजट से ये है उम्मीद, जानें व्यापारियों और किसानों ने क्या कहाBudget 2019 punjab business man and farmers budget 2019 Expectations

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण कुछ ही देर में आम बजट 2019 पेश करेंगी। मोदी सरकार-2 से पंजाब को बड़ी उम्मीदें हैं। मोदी सरकार-1 में पंजाब के हिस्से में ज्यादा कुछ नहीं आया था। इसलिए सरकार से पंजाब की उम्मीदें बढ़ गई हैं। व्यापारी बदीश जिंदल कहते हैं कि अंतरिम बजट में सरकार ने टैक्स की छूट सीमा 5 लाख करने का ऐलान किया था। उसी पर सरकार को कायम रहना चाहिए।

उन्होंने कहा कि पंजाब में उद्योग के साथ टेक्नोलॉजी को अपग्रेड करने का समय आ गया है। लघु उद्योग, मीडिया, कुटिर उद्योग को इस बार सरकार से ज्यादा उम्मीदें हैं। स्टार्ट अप के लिए सरकार युवाओं को छूट दे सकती है। उन्होंने कहा कि पंजाब में इंडस्ट्रीज को सहायता पहुंचाकर राज्य से अच्छी खासी राजस्व निकाली जा सकती है।

छोटे व्यापारियों को ये सुविधाए दे सरकार

अमृतसर के बिजनेसमैन प्यारे लाल सेठ का कहना है कि सरकार छोटे व्यापारियों की तरफ ध्यान नहीं देती है। सरकार को चाहिए कि जो जीएसटी में रजिस्टर्ड हैं उन्हें दस लाख तक का सेहत बीमा देना चाहिए। उनके रिटायरमेंट की समय सीमा तय होनी चाहिए। उसके बाद जीएसटी देनदारी के अनुसार ही उसे पेंशन मिलना चाहिए।

स्पोर्ट्स व्यापार पर मिले छूट

पंजाब के स्पोर्ट्स गुड्स के व्यापारी लंबे समय से सरकार से नाराज चल रहे हैं। उन्होंने कहा है कि सरकार इन सामानों पर ज्यादा टैक्स लेती है। स्पोर्ट्स व्यापार को बढ़ावा देने के लिए सरकार को इस बजट में कुछ ऐलान करना चाहिए।

किसानों को नहीं कोई उम्मीद

पंजाब के किसान कमजोर मानसून के कारण निराश हैं। उनका कहना है कि राज्य में धान का एमएसपी 65 रूपए क्विंटल है सिर्फ इतना ही समर्थन मूल्य बढ़ाने वाली सरकार से क्या उम्मीद किया जा सके। उन्होंने कहा है कि स्वामीनाथन रिपोर्ट के बाद भी सरकार नहीं जाग सकी है। सरकार बस दिखावा करती है कि उन्हें किसानों को बहुत उम्मीदें हैं।

Next Story
Share it
Top