Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

खुद पर लगे आरोपों के प्रति आप क्यों अपना रही है दोहरा मापदंड

जब आप दूसरों के लिए नैतिकता के पैमाने तय करते हैं और उनसे उस पर खरा उतरने की उम्मीद करते हैं।

खुद पर लगे आरोपों के प्रति आप क्यों अपना रही है दोहरा मापदंड

नई दिल्ली. जब आप दूसरों के लिए नैतिकता के पैमाने तय करते हैं और उनसे उस पर खरा उतरने की उम्मीद करते हैं तो समाज आपसे भी आशा करता हैकि आप भी उन नियमों का गंभीरता से पालन करेंगे। यदि आप सार्वजनिक जीवन में हैं तब तो और दबाव बढ़ जाता है, क्योंकि तब आम आदमी की नजरें आप पर लगी होती हैं और जनता आपका अनुसरण करती है, परंतु एक ही मामले में आप दूसरों पर कार्रवाई की उम्मीद ही नहीं, बल्कि दबाव बनाने लगें और स्वयं पर लगे आरोपों के प्रति जवाब देने से बचते रहें तथा जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई करने की बात करने लगें, तो निश्चित रूप से समाज आप पर दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगा सकता है।

यदि वर्तमान में आम आदमी पार्टी के कानून मंत्री सोमनाथ भारती पर लगे आरोपों और उनके प्रति पार्टी के रवैये को देखें तो यह सवाल मन में जरूर टकराता है कि इस मामले में क्या उनको नैतिकता के आधार पर इस्तीफा नहीं दे देना चाहिए? जिस विवाद को मुद्दा बनाकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ दो दिनों तक सिर्फ इसलिए धरने पर बैठे रहे कि उसमें शामिल पुलिस अधिकारियों को जांच होने तक हटाया जाए, तब तो यह सवाल और वाजिब हो जाता है। जिस तरह से आम आदमी पार्टी ने राजनीति में एक उम्मीद जगाई है, वैसे ही इस मामलों में भी देश उससे पारदर्शी रवैया अपनाने की आशा करता है।

आरोप हैकि दिल्ली के मालवीय नगर के खिड़की एक्सटेंशन में आप के कार्यकर्ताओं ने युगांडा की महिलाओं से बदसलूकी की थी। उन्होंने वेश्यावृत्ति और ड्रग्स के आरोप में महिलाओं को देर तक रोके रखा और उनके जबरन मेडिकल टेस्ट करवाए गए। इसकी अगुआई दिल्ली सरकार के कानून मंत्री सोमनाथ भारती कर रहे थे। इसी दौरान दिल्ली पुलिस से उनकी कहासुनी हुई। जिसके बाद केजरीवाल सड़क पर उतरे थे। हालांकि इसमें कोईदो राय नहीं है कि दिल्ली में वेश्यावृत्ति और ड्रग्स का रैकेट चल रहा है, परंतु जो महिलाएं पकड़ी गई थीं उनकी इसमें क्या भूमिका हैयह जांच का विषय है।

हालांकि उस युगांडाई महिला ने भारती की पहचान की है और मजिस्ट्रेट के सामने धारा-164 के तहत बयान दिया है, जो कोर्ट में भी मान्य होगा। यदि मामले की पुष्टि होती है तो भारती और आम आदमी पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं । जिस तरह से मामला तूल पकड़ रहा उससे नहीं लगता कि आप को जल्दी निजात मिलेगी। क्योंकि आप को बाहर से सर्मथन दे रही कांग्रेस पार्टी ने भी अपने तेवर कड़े कर दिए हैं। कांग्रेस ने कहा हैकि केजरीवाल सरकार मुद्दों से भटक गई है और उनकी पार्टीआम चुनावों में उपस्थिति दर्ज कराने के लिए राजनीतिक स्टंट कर रही है।

भारती यदि इस्तीफा नहीं देते तो कांग्रेस सर्मथन पर पुनर्विचार करेगी। उधर आप के भी कुछ सदस्यों ने भारती के तौर-तरीकों और पार्टी के रवैये पर सवाल उठाया है। ऐसे में यह सवाल तो उठता ही हैकि महिलाओं की सुरक्षा के नाम पर दो दिनों तक केंद्र सरकार और दिल्ली पुलिस के खिलाफ धरना देने वाली दिल्ली सरकार खुद पर लगे आरोपों के प्रति उस रास्ते पर क्यों नहीं चल रही है जिस पर दूसरों से चलने की उम्मीद कर रही है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को- फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर

Next Story
Top