Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हाफिज को आतंकी माना, अब कार्रवाई करे पाकिस्तान

इससे पहले पाकिस्तान सईद हफिज को एक सामाजिक कार्यकर्ता बताता रहा है।

हाफिज को आतंकी माना, अब कार्रवाई करे पाकिस्तान
जबसे छोटा राजन की गिरफ्तारी हुई है तब से देश व पाकिस्तान में एक हलचल दिखाई दे रही है। मंगलवार को उत्तर प्रदेश से उसके तीन शूटर पकड़े गए। उधर पाकिस्तान में हाफिज सईद और उसके संगठन जमात उद दावा के मीडिया कवरेज पर रोक लगा दी गई है। साथ ही वहां की सरकार ने पहली बार माना है कि जमात उद दावा आतंकी संगठन है व यह लश्कर ए तैयबा की एक शाखा है। वहीं हाफिज सईद को भी आतंकवादी माना है। इससे पहले वह उसे सामाजिक कार्यकर्ता बताता रहा है।
हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा हुई थी, जहां आतंकवाद के खिलाफ दोनों देशों ने साझा घोषणापत्र जारी किए थे। अमेरिका यात्रा के दौरान भी वहां के राष्ट्रपति बराक ओबामा से आतंकवाद पर गंभीर चर्चा हुई थी। संयुक्त राष्ट्र के अधिवेशन में भी उन्होंने इस मुद्दे को जोर शोर से उठाया था। नरेंद्र मोदी ने साफ शब्दों में कहा था कि दुनिया आतंकवाद में फर्क करना बंद करे। यदि विश्व वाकई इससे लड़ना चाहता है तो सबसे पहले संयुक्त राष्ट्र को आतंकवाद की परिभाषा तय करनी होगी। इसके अलावा भी कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों से उनकी मुलाकात हुई है। लगभग सभी ने भारत के रुख का सर्मथन किया है। अमेरिका से चूंकि पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई और दूसरे कायरें के लिए समय-समय पर बड़ी इमदाद मिलती रही है तो ऐसे में वह कोई दबाव डालता है तो कुछ हद तक पाक पर प्रभाव दिखता है।
अभी हाल ही में नवाज शरीफ की अमेरिका यात्रा को लेकर मीडिया में खबरें आई हैं कि उसे पाकिस्तान की दृष्टि से असफल मानी गई है। उन्होंने भारत की गुप्तचर एजेंसी रॉ की पाकिस्तान में कथित भूमिका के लिए तथाकथित डोजियर भी सौंपे, लेकिन अमेरिका ने उसे नकारते हुए कहा कि पहले आप आतंकवाद पर भारत की चिंताओं को दूर कीजिए। यह किसी से छिपा नहीं है कि 26/11 के मुंबई हमले की साजिश पाकिस्तान की धरती पर रची गई थी, जिसके दोषी अजमल कसाब को भारत में फांसी दी जा चुकी है जबकि पाक में इस मामले की अभी तक सुनवाई ही आरंभ नहीं हुई है।
पाक वर्षों से कहता आ रहा है कि वह अपनी जमीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं होने देगा, लेकिन अब भी वहां सेना व सरकार की जानकारी में दर्जनों आतंकी संगठन सक्रिय हैं, जिनका मकसद भारत में हिंसा फैलाना है। पाक सेना जब ना तब उनकी घुसपैठ कराती है, जिससे सीमा पर टकराव की हालत बनी रहती है। सीजफायर का उल्लंघन भी इसी की देन है। छोटा राजन की गिरफ्तारी के बाद खबरें आ रही हैं कि पाकिस्तान में दाऊद इब्राहिम की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जाहिर है, इससे पाकिस्तान भी दबाव में है। अब देखने वाली बात यह होगी कि इसका वहां से सकारात्मक संदेश आता है या नकारात्मक। यह भी देखने वाली बात होगी कि हाफिज सईद पर जो कड़ाई की गई है वह स्थाई रहती है या नहीं क्योंकि पाकिस्तान का दोमुंहापन दर्जनों बार उजागर हो चुका है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top