Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इक़बाल फ़ैज़ी और धीरेन्द्र प्रताप सिंह की याद में कविता पाठ

पीपुल्स फोरम की ओर से एच. यू. लश्करी एकेडमी, जमुरातगंज, मसौधा में राब्ता सद्भाव के लिए काव्य संवाद का आयोजन किया गया

इक़बाल फ़ैज़ी और धीरेन्द्र प्रताप सिंह की याद में कविता पाठ

फैज़ाबाद. मरहूम इक़बाल फ़ैज़ी और मरहूम धीरेन्द्र प्रताप सिंह की याद में अवध पीपुल्स फोरम की ओर से एच. यू. लश्करी एकेडमी, जमुरातगंज, मसौधा में राब्ता सद्भाव के लिए काव्य संवाद का आयोजन किया गया।इस काव्य संवाद में शहर प्रसिद्ध कवि स्वप्निल श्रीवास्तव ने अपनी कविता जो मारे गए वे नहीं हत्यारे याद किये जायेगे, हत्यारों को हत्यारा ना कहा जाए, उन्हें समाज सुधारक के रूप में याद किया जायेगा। डॉ. अनिल कुमार सिंह ने अवतार सिंह पाश की कविता मैंने टिकट खरीदकर आपके लोकतंत्र नाटक को देखा है। कवि विशाल श्रीवास्तव ने अपनी कविता पोस्टकार्ड और जतिन मेहता, उससे थोड़ी दूर पर एक मकड़ी जाला बुन रही है।

इस्लामाबाद लिटरेचर फेस्टिवल में दुनिया भर की 175 हस्तियों ने भाग लिया

एडवोकेट एस. एम. अब्बास ने अपनी नज़म ताज-महल यू ही थोड़े ही बन पाता है, फनकारों का हाथ कलम हो जाता है और तुमने ये आग लगाई थी ये सोच करके ना, इसकी लपटों से यहाँ की तहज़ीब, ताकि जल जाये जवा नस्ल का सब मुश्तकबिल, ताकि हाथ में पत्थर के सिवा कुछ भी न हो। डॉ. बुशरा खातून में अपनी नज़म आज फिर एक हादसा हुआ, अल्फ़ाज़ ने अपना लिबास इख़्तियार किया और आधी दुनिया जिसके हिस्से में आती है. शहर के प्रसिद्ध शायर अली सईद ने अपनी ग़ज़ल वो पहले जैसी तेरी आन-बान है कि नहीं, किसी गरीब के हक़ में बयान है कि नहीं, किसान भूख से मरता है हम कदम हर पल, बताओ देश महान है कि नहीं, तुम्हारे मुह में बताओ ज़बान है कि नहीं, अगरचे पाना है मंज़िल तुम्हें भी ऐ मशमुन, दिलों दिमाग पर उंची उड़ान है कि नहीं।
कवि आर. डी. आनंद ने अपनी कविता नौजवान आ तू आ कदम बड़ा, वतन पे अपनी जान दे, क्रांति को सम्मान दे, विचार सान तेज कर न्य विधान तेज कर, नौजवान अ तू अ कदम बड़ा, देख लूट है मची, देख भूख है रची, तू अपनी चाल तेज कर, तू अपनी भाल तेज कर, नौजवान अ तू अ कदम बड़ा, आ रे नौजवान झुक रहा है आसमान, करवा को तेज कर, लौ मशाल तेज कर, नौजवान अ तू अ कदम बड़ा।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top