Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

RIP: मशहूर शायर-गीतकार नक्श लायलपुरी का निधन

नक्श का जन्म पंजाब के लायलपुर में 24 फरवरी 1928 को हुआ था।

RIP: मशहूर शायर-गीतकार नक्श लायलपुरी का निधन
मुंबई. देश के मशहूर गीतकार और प्रख्यात उर्दू शायर 'नक्श लायलपुरी' के नाम से पहचाने जाने वाले जसवंत राय शर्मा का रविवार रात निधन हो गया। उनके बेटे ने उनके निधन की जानकारी दी है। नक्श ने देश को कई यादगार गीत दिए हैं, जिनमें मुख्य रूप से ‘नन्हा मुन्ना राही हूं’, ‘मेरे देश की धरती’, ‘जिंदगी की ना टूटे लड़ी’ और ‘तुझ संग प्रीत लगाई सजना’ जैसे बेहतरीन गीत दिए हैं।
पंजाब के लायलपुर में 24 फरवरी, 1928 को जन्मे लायलपुरी इतने बड़े शायर और गीतकार बनेंगे, इसका अंदाजा किसी को नहीं था। लायलपुर अब पाकिस्तान का हिस्सा है। उनके वालिद मोहतरम जगन्नाथ ने उनका नाम जसवंत राय रखा था। शायर बनने के बाद उन्होंने अपना नाम बदल लिया। साहित्य में उनकी दिलचस्पी उनके स्कूल के दिनों में ही दिख गई, जब उनकी स्कूल टीचर साल के अंत में उनकी कॉपी इसलिए खरीदती थीं, क्योंकि उनमें उनकी कविताएं लिखी होती थीं। साल 1947 में भारत और पाकिस्तान के विभाजन के बाद उनका परिवार लखनऊ आ गया। विभाजन के दर्द को उन्होंने अपनी आंखों से देखा और यह उनकी शायरी में बखूबी नजर आया।
साल 1940 के दशक में हिंदी सिनेमा में कॅरियर बनाने के लिए नक्श मुंबई पहुंचे थे। अपने संघर्ष के शुरुआती दिनों में उन्होंने दैनिक जरूरतें पूरी करने के लिए कुछ समय डाक विभाग में भी काम किया था। हालांकि, उन्हें गीतकार के रूप में पहला मौका 1952 में मिला था, लेकिन 1970 के दशक के प्रारंभ तक उन्हें खास सफलता नहीं मिल पाई। बाद में उन्होंने कई शीर्ष फिल्म निर्देशकों, संगीत निर्देशकों और गायकों के साथ काम किया और सुमधुर, रूमानी और भावनात्मक गीत लिखे, जो लाखों दिलों को छू गया।
लायलपुरी के लिख कुछ सर्वश्रेष्ठ गीतों में ‘मैं तो हर मोड़ पर’, ‘ना जाने क्या हुआ, जो तूने छू लिया’, ‘उल्फत में जमाने की हर रस्म को ठुकरा’ और ‘दो दीवाने शहर में’ शामिल हैं। बाद के दिनों में गीतों में सतही बातें शामिल करने की मांग से दुखी लायलपुरी ने 1990 के दशक में बॉलीवुड से संन्यास ले लिया और टेलीविजन के लिए गीत लिखने लगे। उन्होंने 2005-6 में संक्षिप्त समय के लिए फिल्मों में वापसी की थी और नौशाद के साथ ‘ताजमहल’ और खय्याम के साथ ‘यात्रा’ जैसी फिल्मों के लिए गीत लिखे थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top