Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

यथार्थ की खुरदरी सतह से सपनों की मखमली जमीन

आसमान की दुनिया से धरती की ओर झांकते प्लूटो को सर्मपित है गुलजार की नई शायरी

यथार्थ की खुरदरी सतह से सपनों की मखमली जमीन
यथार्थ की खुरदरी सतह से सपनों की मखमली जमीन। आंखों के खारे पानी से दबे पांव चुपचाप चली आने वाली रात की सरगोशियां। इनके एहसासात को अपनी कलम के जरिए कागज पर उतारने वाले अनुभवी और जाने माने लेखक गीतकार गुलजार ने कविताओं के अपने नए संग्रह को दूर आसमान की दुनिया से धरती की तरफ झांकते प्लूटो को सर्मपित किया है।
अपने नए संग्रह ‘‘प्लूटो’’ में भी गुलजार की कलम रिश्तों, कुदरत, वक्त और खुदा से उनके ताल्लुकात की गलियों में घूमती नजर आती है। इसमें गुलजार की वही जानी पहचानी कभी तल्ख तो कभी बेहद नफीस कैफियत और शब्दों के एकदम अलहदा मायने नजर आते हैं।
प्लूटो से समानता
गुलजार की रचनाओं का निरूपमा दत्त ने अंग्रेजी में तर्जुमा किया है। हार्परकोलिंस इंडिया ने इस किताब को प्रकाशित किया है। पहली बार ऐसा हुआ है कि इसमें गुलजार के कुछ अपने रेखाचित्र भी हैं। वे कहते हैं कि हाल में प्लूटो ने ग्रह का अपना दर्जा खो दिया है। वैज्ञानिकों ने प्लूटो से कहा कि दूर हटो,हम तुम्हें अपने नौ ग्रहों के परिवार में शामिल नहीं करते।
तुम उन जैसे नहीं हो। बहुत अर्सा पहले मैंने भी अपना मुकाम खो दिया था, जब मेरे परिवार ने कहा कि कारोबारियों के परिवार में एक मिरासी का क्या काम। उनकी खामोशी के मायने थे कि तुम हमारे जैसे नहीं हो। वह कहते हैं कि प्लूटो को इस तरह दुत्कारे जाने पर मेरा दिल दुख से भर गया। हालांकि वह बहुत दूर है,बहुत छोटा है। इसलिए मैंने मेरी सारी कविताएं उसके नाम कर दीं। कुछ लम्हे इतने छोटे होते हैं कि पल में गुजर जाते हैं, हम अकसर उन्हें पकड़ नहीं पाते। मुझे उन्हीं लम्हों को पकड़ना पसंद है।
कलमबंद में माहिर
गुलजार के अनुसार इस संग्रह की 111 कविताओं में से बहुत सी कविताएं रवायत से बंधी नहीं हैं। ऐसा होना कुछ गलत भी नहीं है। दत्त का कहना है कि गुलजार उन छोटी-छोटी बातों को कलमबंद करने में माहिर है, जो उनके लिए मायने रखती हैं। कुछ नन्हीं सी बातें, कुछ छोटे से लम्हे वह बड़ी खूबसूरती से पकड़ लेते हैं। छोटे-छोटे करिश्में उन्हें जिज्ञासा से भर जाते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top