Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत को उकसाने से बाज आए पाकिस्तान

भारत ने अपनी स्थिति साफ कर दी है कि वह अपनी तरफ से बन रहे सकारात्मक माहौल पर ग्रहण नहीं लगने देगा।

भारत को उकसाने से बाज आए पाकिस्तान
X

रूस के शहर उफा में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से वार्ता कर दोनों देशों के बीच जो एक सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाने की कोशिश की थी, उस पर पाकिस्तान पानी फेरता प्रतीत हो रहा है। हालांकि इस विषय में भारत ने अपनी स्थिति साफ कर दी है कि वह अपनी तरफ से बन रहे सकारात्मक माहौल पर ग्रहण नहीं लगने देगा, लेकिन अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए हर गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब देगा। पिछले कुछ दिनों से उसकी ओर से भारत को भड़काने वाली कई कार्रवाइयां हुई हैं। उसका वर्तमान रुख दोनों देशों के विदेश सचिवों की ओर से जारी किए गए संयुक्त बयान के सर्वथा विपरीत है, जिसमें सीमा पर शांति और स्थिरता बनाए रखने की प्रतिबद्धता जताईगई थी। भारत के कड़े रुख के बाद भले ही पाकिस्तान भी उफा में बनी सहमतियों पर प्रतिबद्धता जताने की बात कह रहा है, लेकिन इससे उसकी मंशा पर शक होना स्वाभाविक है। इन दिनों पाकिस्तानी सेना संघर्ष विराम का लगातार उल्लंघन कर रही है। उनकी गोलीबारी से भारतीय जवानों के साथ साथ सीमावर्ती इलकों को भारी नुकसान पहुंचा है।

कांग्रेस के 56 इंच के सीने वाले बयान पर BJP का पलटवार, कहा- 'डायपर बेबी हैं राहुल गांधी'

खुफिया रिपोर्ट आई है कि गोलीबारी की आड़ में वह आतंकवादियों की भारतीय सीमा में घुसपैठ कराने का प्रयास कर रही है। यही नहीं तनाव बढ़ाने के लिए उसने भारत के जासूसी ड्रोन की झूठी कहानी भी बना दी। बाद में पता चला कि उस ड्रोन से भारत का कोईलेना देना नहीं है, बल्कि चीनी मॉडल का वह ड्रोन स्वयं पाकिस्तान की सुरक्षा एजेंसियां इस्तेमाल करती हैं। इससे पहले वहां के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सरताज अजीज का बयान आया था जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान बिना कश्मीर के मुद्दे के भारत से वार्ता नहीं करेगा। उन्होंने मुंबई हमले से जुड़े मामलों में और ज्यादा सबूतों की मांग कर भी सभी को चौंका दिया, क्योंकि भारत पहले ही सभी पुख्ता सबूत पाकिस्तान को दे चुका है। मुंबई हमले का गुनाहगार और लश्कर ए तैयबा का आतंकी जकीउर रहमान लखवी की आवाज के नमूने भारत को सौंपने के वादे से भी वह मुकर गया है। जबकि उफा में जारी संयुक्त बयान में इन सभी मुद्दों पर भारत का साथ देने के लिए नवाज शरीफ ने हामी भरी थी, लेकिन मौजूदा घटनाएं देखकर तो लगता है कि वे अपने वादे से एक एक कर मुकरते जा रहे हैं।

J&K हाईकोर्ट: राज्य में ARTICLE 370 रहेगा बरकरार, नहीं हो सकता कोई बदलाव

सवाल पैदा होता है कि वह भारत से रिश्तों को सुधारने के प्रति इच्छुक है या नहीं। इससे तो यही लगता हैकि वह बातचीत सिर्फ दिखावे के लिए कर रहा है, और उसके मन में कुछ और है। जाहिर है, इस तरह वह दुनिया के सामने एक बार फिर एक्सपोज हो गया है। उसके संबंध में यह बात फिर साबित हो रही है कि पाकिस्तान अपने किए वायदों से अकसर पलट जाता है। यह आरोप भी साबित हो रहा है कि वहां चुनी हुई सरकार के समानांतर सेना और चरमपंथी शक्तियां भी काम करती हैं। वे दोनों नहीं चाहते कि भारत से बेहतर संबंध बने। एक तरफ सेना गोलीबारी कर रही है, तो दूसरी तरफ चरमपंथी कश्मीर मुद्दे को हवा दे रहे हैं। ऐसे में नवाज शरीफ को अपना घर संभलना मुश्किल हो रहा है। जाहिर है, संबंधों को पटरी पर लाने की जिम्मेदारी भारत के साथ साथ पाकिस्तान की भी है।

घूसखोरी मामले मे दिल्ली सरकार का उपायुक्त गिरफ्तार, CBI ने छापा मार 10 लाख रु. किए बरामद

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top