Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हाफिज की स्वीकारोक्ति के बाद कटघरे में पाकिस्तान

पाकिस्तान आतंकियों के लिए कितना मुफीद है इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि खूंखार आतंकी ओसामा बिन लादेन सालों वहां छिप कर बैठा रहा।

हाफिज की स्वीकारोक्ति के बाद कटघरे में पाकिस्तान

आतंकी संगठन जमात उद दावा प्रमुख हाफिज सईद ने एक पाकिस्तानी टेलीविजन चैनल को दिए इंटरव्यू में जम्मू- कश्मीर के संदर्भ में जो बातें कही है, उससे भारत का यह आरोप सही साबित होता है कि पाकिस्तान सरकार और वहां की सेना मिलकर देश में आतंकवाद को बढ़ावा दे रही हैं। मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने कहा है कि पाकिस्तान सरकार और सेना की मदद से कश्मीर घाटी में तथाकथित जेहाद चलाया जा रहा है और पाक सरकार कश्मीर में अलगाववादियों की मदद कर रही है। इससे पाकिस्तान की नापाक करतूत का सच उजागर हो गया है।

भारत अक्सर सबूतों के साथ पाक पर यह आरोप लगाता रहा है कि जेहाद के नाम पर वह देश को अस्थिर करने का काम कर रहा है। वह भारत की अखंडता और संप्रभुता के लिए खतरा पैदा कर रहा है। देश की सुरक्षा एजेंसियों को उसकी बातों को गंभीरता से लेनी चाहिए। इन दिनों कश्मीर घाटी में तनाव की स्थिति है। वहां जिस तरह आतंकी हमलों में बढ़ोतरी हुई है और अलगाववादियों की सक्रियता तेज हुई है, उससे साफ है कि सीमा पार से निर्देश आ रहे हैं।

विधानसभा चुनाव में लोकतंत्र के प्रति आम कश्मीरी लोगों की दीवानगी और कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास को लेकर शुरू किए गए प्रयास से न केवल अलगाववादी बल्कि पाक भी बौखला गया है। इसमें कोईदो राय नहीं कि पाक की सरकार, सेना और कट्टरपंथी जमातें जेहाद के नाम पर आतंकवाद को बढ़ावा दे रही हैं। आतंकी संगठन प्रशिक्षण कैंप लगाकर पाक युवाओं को आंतकी बनने की ट्रेनिंग दे रहे हैं और उनको भारत सहित अफगानिस्तान, इराक, सीरिया आदि देशों में हिंसा फैलाने के लिए भेज रहे हैं।

पाकिस्तान आतंकियों के लिए कितना मुफीद है इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि खूंखार आतंकी ओसामा बिन लादेन सालों वहां छिप कर बैठा रहा। अभी भी वहां सैकड़ों आतंकी अपना ठिकाना बनाए हुए हैं। इसी से पाक आज दुनिया का आठवां सबसे खतरनाक देश बन गया है। हालांकि ऐसा नहीं है कि इस आतंकवाद से उसे हानि नहीं है। अभी ज्यादा दिन नहीं बीते हैं जब पाकिस्तान तालिबान ने पेशावर के एक आर्मी स्कूल में आत्मघाती हमला कर सौ से ज्यादा मासूमों की निर्मम हत्या कर दी थी। इससे भी वह कुछ सीखने को तैयार नहीं है।

पाक की समस्या यह है कि वह आतंकवाद को अच्छा-बुरा की श्रेणी में बांट कर देखता है। जो आतंकी भारत व अफगानिस्तान को हानि पहुंचा रहे हैं, हिंसा फैला रहे हैं, उन्हें वह गले लगाता है और जो उसकी बात नहीं मानते उनके खिलाफ युद्ध छेड़े हुए है। आतंकवाद पर उसकी इस दोहरी नीति पर भारत लंबे समय से दुनिया का ध्यान खींचता रहा है। हाफिज सईद की स्वीकारोक्ति के बाद विश्व जगत को पाक के प्रति कड़ा रुख अपनाना चाहिए जिससे वह आतंकवाद को अच्छा-बुरा में फर्क करना बंद करे। तभी दुनिया में शांति कायम हो पाएगी और आतंकवाद के खिलाफ दुनिया अपनी लड़ाई जीत पाएगी।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top