Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जाकिर नाइक के एनजीओ पर ताबड़तोड़ छापे, 12 लाख कैश जब्त

नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन से जुड़ी 12 जगहों पर छापेमारी हुई।

जाकिर नाइक के एनजीओ पर ताबड़तोड़ छापे, 12 लाख कैश जब्त
नई दिल्ली. नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की टीमों ने शनिवार को मुंबई में इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन से जुड़ी 12 जगहों पर छापेमारी की। एनआईए की छापेमारी में कई अहम दस्तावेज, इलेक्ट्रॉनिक स्टोरेज डिवाइसेज और करीब 12 लाख रुपये कैश मिले हैं। जब्त किए गए दस्तावेजों में जाकिर नाइक और आईआरएफ की संपत्तियों के विवरण और वित्तीय लेन-देन समेत कई गतिविधियों की जानकारी है।
आईआरएफ पर अपना शिकंजा कसते हुए केंद्र सरकार ने शनिवार को मुंबई में उससे जुड़ी जगहों पर छापा मारने के लिए एनआईए के साथ-साथ इनकम टैक्स की टीम को भी भेजा। आईआरएफ ऑफिस; नाइक, उसके करीबियों, आईआरएफ के डायरेक्टर के आवासों पर छापा मारने के अलावा एनआईए ने हॉर्मनी मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के ऑफिस पर भी छापा मारा। हार्मनी मीडिया प्राइवेट लिमिटेड ही नाइक के टीवी चैनल पीस टीवी के लिए कॉन्टेंट तैयार करता है।
एनआईए ने डिवेलपमेंट क्रेडिट बैंक लिमिटेड की डोंगरी शाखा स्थित आईआरएफ के बैंक अकाउंट को भी सील कर दिया। इस अकाउंट का इस्तेमाल आईआरएफ अपने स्कूल स्टाफ की सैलरी और दूसरे खर्चों के लिए करता है। शनिवार की सुबह शुरू हुई छापेमारी देर रात तक चलती रही। दो दिन पहले ही मोदी कैबिनेट ने इंडियन रिसर्च फाउंडेशन को गैरकानूनी संगठन घोषित किया था।
शुक्रवार को एनआईए की मुंबई शाखा ने आईआरएफ के खिलाफ इंडियन पेनल कोड की धारा 153-ए के तहत केस दर्ज किया था। इस धारा का इस्तेमाल दो समुदायों में धार्मिक आधार पर शत्रुता को बढ़ावा देने और सौहार्द को भंग करने वाली गतिविधियों पर लगाया जाता है। केस दर्ज होने के अगले ही दिन एनआईए ने आईआरएफ के ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी।
डॉक्टर से इस्लामिक उपदेशक बने नाइक हमेशा से सुरक्षा बलों के रेडार पर रहे हैं। अतीत में दिए इनके बयान काफी विवादित रहे हैं। उन्होंने कहा था कि यदि ओसामा अमेरिका को आतंकित कर रहा है वह उसके साथ हैं। बांग्लादेश की राजधानी ढाका के एक कैफे में हुए आतंकी हमले के बाद नाइक सबसे ज्यादा चर्चाओं में आए। बांग्लादेश अथॉरिटी ने इस हमले का कनेक्शन नाइक से भी जोड़ा था। अथॉरिटी का कहना था कि नाइक की स्पीच से कुछ हमलावर आतंकी प्रेरित थे। इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली थी। इस आतंकी हमले में 19 साल की एक भारतीय लड़की समेत 20 लोग मारे गए थे।
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, ढाका हमले से जुड़े आतंकियों से नाइक के तार जुड़ने की रिपोर्ट के बाद सरकार और सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय हुई थी। उस वक्त जाकिर नाइक सऊदी अरब की धार्मिक यात्रा पर था लेकिन कार्रवाई के डर से वह भारत नहीं लौटा। हाल ही में नाइक के पिता की मौत हो गई लेकिन गिरफ्तारी के डर से वह भारत नहीं आया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top