Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चाहता तो अब तक 10 लाख आतंकी तैयार कर देताः जाकिर

इस्लामिक धर्मगुरु नाइक पर आतंकियों से जुड़े होने के आरोप हैं।

चाहता तो अब तक 10 लाख आतंकी तैयार कर देताः जाकिर
मुंबई. इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक ने आतंकियों गतिविधियों में शामिल होने के आरोपों को गलत बताया है। नाइक का कहना है कि, "ये आरोप गलत हैं कि कुछ शरारती तत्व जो आतंकी ग्रुप से जुड़े हैं वे मेरे भाषण से प्रभावित हुए हैं। अगर मैं आतंक को बढ़ावा दे रहा होता तो क्या लाखों आतंकी नहीं बना देता।
विवादित इस्लामिक धर्मगुरु नाइक पर आतंकियों से जुड़े होने के साथ ही आतंकियों गतिविधियों को बढ़ावा देने के आरोप हैं। हाल ही में एनआइए ने नाइक के 10 ठिकानों पर छापेमारी कर उन्हें सीज कर दिया है। तो वहीं इस मामले में नाइक ने अपने ऊपर लगे आरोप को खारिज करते हुए कहा कि, "मेरे लाखों समर्थकों में से कुछ समाज विरोधी हो सकते हैं जो हिंसा करते हैं। लेकिन वे उस संदेश को नहीं अपनाते, जो मैंने दिया है। "अगर कोई हिंसा का रास्ता अपनाता है तो वह मुसलमान नहीं है। उसे मेरा समर्थन नहीं मिलेगा।"
एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) पर बैन के सवाल पर जाकिर ने कहा, "फाउंडेशन ने उसे मिले फंड का गलत उपयोग नहीं किया।" "आईआरएफ को बीते 6 साल में करीब 47 करोड़ मिले हैं। इसका भी रिटर्न भरा गया है। ऐसे में बैन की वजह राजनीतिक है।" नाइक ने स्वदेश वापसी पर कहा, "मैंने एनआईए को मदद के लिए कई बार पेशकश की। लेकिन जवाब नहीं मिला।"
एनजीओ पर क्या हैं आरोप-
आईआरएफ पर आरोप हैं उसे विदेशों से मिले चंदे का पॉलिटिकल यूज, धर्मांतरण के लिए इन्सपायर करने और टेरेरिज्म फैलाने के लिए यूज किया गया। मुंबई के चार स्टूडेंट्स जब आईएस में शामिल होने गए थे तब भी यह बात सामने आई थी कि वे जाकिर नाइक को फॉलो करते थे।
आरोपों में घिरने के बाद होम मिनिस्ट्री ने आईआरएफ को मिलने वाले चंदे के सोर्स का पता लगाने का ऑर्डर दिया था। केंद्र सरकार और महाराष्ट्र सरकार ने जाकिर नाइक की स्पीच की सीडी की जांच के ऑर्डर दिए थे।
जांच के बाद जाकिर के एनजीओ पर 5 साल का बैन लगा दिया गया था। उसे विदेश से मिलने वाले चंदे पर भी रोक लगा दी गई थी।
ढाका में आतंकी हमले के बाद शुरू हुई जांच-
जाकिर नाइक जुलाई में बांग्लादेश के ढाका में हुए आतंकी हमले के दौरान चर्चा में आया था। तब एक आतंकी ने उसके भड़काऊ भाषणों का हवाला दिया था। इसके बाद बांग्लादेश और भारत में जाकिर के खिलाफ जांच शुरू हुई। जाकिर नाइक इस वक्त मलेशिया में रह रहा है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top